शतरंज के खिलाड़ी बनना चाहते थे, टीम इंडिया के नौजवान स्पिनर युजवेंद्र

Feb 02, 2017
शतरंज के खिलाड़ी बनना चाहते थे, टीम इंडिया के नौजवान स्पिनर युजवेंद्र

इंग्लैंड से t20 लड़ी जीतने के बाद सबसे ज्यादा चर्चा टीम इंडिया के नौजवान स्पिनर युजवेंद्र साहिब चहल की हो रही है। युजवेंद्र फेन्स के फेवरेट बनते जा रहे हैं ।इस क्रिकेट 12 लोग कौन नहीं जानते होंगे कि उन्होंने खेल के करियर की शुरुआत क्रिकेट से नहीं सतरंज से की थी।

बताने वाली बात यह है कि 7 साल की उम्र में उन्होंने शतरंज खेलना शुरु किया था। पर स्पॉन्सर ना मिलने के कारण खेल को बदल लिया ।कंप्यूटर सतरंज खेल में करियर बनाने के लिए उनके पास परिवार खासकर के पिता का पूरा सहयोग था। शतरंज में डूबते युजवेंद्र पर समय ऐसा भी आया जब उन्होंने अपना कैरियर बनाने के लिए स्पांसर नहीं मिला । यहां तक कि उनका ध्यान शतरंज से भटकाया और क्रिकेट में लगा।

बचपन से ही वह क्रिकेट शौक के तौर पर खेलते थे। मा ने बताया कि बेटे चहल के फिटनेस के राज बड़े-बड़े तो इस पर वह खास ध्यान देते हैं। कॉफी थोड़ी बहूत पी लेते हैं।
युजवेंद्र की मां दादी बताती है कि घर हो या बाहर सनी कभी भी तली हुई चीज़ नहीं खाता।
बहुत कम खाना और सबसे मनपसंद चीज है राजमा चावल और लहसुन की चटनी।
खाने में दोनों टाइम लहसुन की चटनी जरुर खाता है।
दूध पीने के साथ को वह कभी मना नहीं करता।
उन्होंने बताया कि घर हो या बाहर 2-3 लीटर दूध पी जाता है।
पिता वकील के चहल बताते हैं कि चहल पहले अंडा तक नहीं खाता था पर मांसपेशियों में तकलीफ बताई गयी तो फिर मासाहारी खिलाना शुरू कर दिया।

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>