मुख्यमंत्री ने शराबबंदी का विरोध करने वाले लोगों पर जमकर हमला बोला

Apr 12, 2016

बिहार विधानसभा बजट सत्र की समाप्ति के बाद पहले जनता दरबार में मुख्यमंत्री ने आज सैकड़ों फरियादियों की शिकायतें सुनी.

मुख्यमंत्री ने जनता दरबार के बाद प्रेस कांफ्रेस में सूबे में शराबबंदी का विरोध करने वाले लोगों पर जमकर हमला बोला.

नीतीश कुमार ने बिहार पर्यटन, ट्यूरिज्म और होटल व्यवसाय पर असर पड़ने का बहाना बनाकर शराब की वकालत करने वालों की क्लास ली. उन्होंने वैसे लोगों को चेताया, जो शराब की वकालत कर रहे हैं. मुख्यमंत्री ने स्पष्ट कहा कि जिसको बिहार आना है, वह आये, जिसे नहीं आना है, वह नहीं आये. बिहार ड्राइ स्टेट बन गया है और ड्राइ स्टेट ही रहेगा.

मुख्यमंत्री ने कहा कि लोगों को समर्थन करना चाहिए. सरकार ने लाखों महिलाओं और लोगों के हित को ध्यान में रखते हुए इस फैसले पर अमल किया है.

उन्होंने कहा कि सिर्फ बिहार ही नहीं, अगल-बगल के राज्यों में भी इसका असर पड़ेगा, सिर्फ आप देखते जाइए. कई राज्यों में चुनाव है. तमिलनाडु में तो आवाज उठने भी लगी है.

मुख्यमंत्री ने कहा कि बिहार से शराबबंदी को लेकर एक जन आंदोलन की ज्वाला निकली है जो सामाजिक आंदोलन बनने जा रही है. उन्होंने कहा कि सरकार ने बहुत सोच समझकर फैसला लिया है और उस पर अडिग है.मुख्यमंत्री ने कहा कि वह किसी व्यक्ति के खिलाफ नहीं हैं बल्कि शराब के खिलाफ हैं.

मुख्यमंत्री ने टयूरिज्म पर असर की बात को सिरे से खारिज करते हुए कहा कि ऐसी कोई बात नहीं है. बिहार ऋषि-मुनियों और संतों का प्रदेश रहा है. यहां पर्यटन और पर्यटक भी उसी नेचर के आते हैं.

 

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>