हैवानियत: चलती ट्रेन से पिता ने एक-एक कर फेंकी तीन मासूम बेटियां, एक की मौत

Oct 25, 2017
हैवानियत: चलती ट्रेन से पिता ने एक-एक कर फेंकी तीन मासूम बेटियां, एक की मौत

हम भले ही ‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ’ के नारे लगाते रहें, लेकिन बेटियों को बोझ समझने की मानसिकता और मासूम बच्चियों की हत्या करना जैसे क्रूर अपराध समाज में हर आए दिन खुलेआम हो रहे हैं। जिसका सुबूत एक बेरहम पिता ने अपनी तीन मासूम बेटियों को चलती ट्रेन से फेंक कर दिया है।

बता दें कि ये दिल दहला देने वाला वाकया सीतापुर में देखने को मिला। मिली जानकारी के मुताबिक मंगलवार सुबह लगभग चार बजे अमृतसर से बिहार के सहरसा जा रही ट्रेन अमृतसर-सहरसा जनसेवा एक्सप्रेस से तीन मासूम बच्चियों को उसके पिता ने ही फेंक दिया। जिसके बाद रामकोट थानाक्षेत्र के गौरा और भवानीपुर गांवों के बीच एक ग्रामीण ने तीन बच्चियों को रेल पटरी के किनारे बेहोशी की हालत में पड़ा देखा। ग्रामीण ने यूपी डायल 100 के साथ 108 एम्बुलेंस को इसकी सूचना दी। जिसमें एक बच्ची की मौत हो गई। जबकि दो का इलाज हॉस्पिटल में चल रहा है।

जिन घायल बच्चियों का इलाज चल रहा है उनकी उम्र छह और तीन साल बताई जा रही है। जबकि जिस बच्ची की मौत हुई है उसकी उम्र आठ साल बताई जा रही है। ये बिहार के मोतिहारी जिले की रहने वाली हैं जबकि इनके माता-पिता पंजाब में कहीं मजदूरी करते हैं। बच्चियों ने आरपीएफ और सिविल पुलिस को बताया कि वे पांच बहने हैं, और हम तीनों को पिता ने ही ट्रैन से फेंका है।

बच्चियों के बयानों के आधार पर पुलिस प्रवक्ता ने बताया कि बिहार पुलिस से सम्पर्क किया जा रहा है। वारदात के बाद से ही दोनों बच्चियां काफी डरी-सहमी हुई हैं। फिलहाल पुलिस इस मामले की जांच में लगी हुई है और उनके परिवार से संपर्क करने की कोशिश कर रही है।

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>