गौरक्षकों के रॉडों-डंडों से मारे गए अयूब के परिवार को है मदद की दरकार

Oct 08, 2016
गौरक्षकों के रॉडों-डंडों से मारे गए अयूब के परिवार को है मदद की दरकार

यह वाक्या है13 सितम्बर के दिन। रोजाना की तरह अपनी गाड़ी से माल ढोने का काम करने वाला अयूब आज बैलों और बछड़ों को लेकर दूसरी जगह छोड़ने जा रहा था तभी अयूब गाड़ी का एक्सीडेंट हो गया था।

इस हादसे में अयूब को कुछ चोटें आईं थी और गाड़ी में लदे कुछ जानवर मारे गए थे । हादसे की जगह इकठ्ठा हुए लोगों में से कुछ ने अयूब को यह बोलकर घेर लिया था कि वो इन जानवरों को बलि देने के लिए लेकर जा रहा है। इस मामले को बिगड़ता देख अयूब ने भागने की कोशिश की लेकिन देखते ही देखते आक्रामक हुई भीड़ ने अयूब को पकड़ कर लोहे की रॉडों और डंडों से बहुत पीटा था अयूब बुरी तरह से घायल हो गया था। कुछ लोगों ने अयूब की मदद कर उसे हस्पताल पहुंचा दिया था। मगर अयूब की जादा हालत ख़राब होने के कारण 16 सितम्बर पीएम मोदी के जन्मदिवस के दिन अयूब ने दम तोड़ दिया। अयूब के घर मातम का माहौल बन था। बीवी, दो बच्चे, माँ-बाप, एक भाई और एक बहन इन सब का खर्च अयूब के कमाए हुए पैसों से ही चलता था।

ये भी पढ़ें :-  मनीष सिसोदिया के खिलाफ CBI केस दर्ज, केजरीवाल बोले- पगला गए हैं मोदी

अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>
error: 24hindinews.com\'s content is copyright protected
error: 24hindinews.com\'s content is copyright protected