पूरे गांव में गम का माहौल: एक साथ उठी 19 अर्थ‍ियां, जहां मिली मौत, वहीं हुआ अंतिम संस्कार

Sep 15, 2017
पूरे गांव में गम का माहौल: एक साथ उठी 19 अर्थ‍ियां, जहां मिली मौत, वहीं हुआ अंतिम संस्कार

उत्तर प्रदेश के बागपत में मजदूरों से भरी एक नाव के डूबने की वजह से 19 लोगों की मौत हो गई, शुक्रवार को एक साथ इन 19 लोगों की अर्थी उठी, जिस से पूरे गांव में गम का माहौल हो गया, और किसी के घर में चूल्हा तक नहीं जला।

बता दें कि ये घटना बागपत जिले के काठा गांव की है जहाँ गुरुवार को नदी पार करते समय उनकी नाव पलटने की वजह से 19 लोगों की मौत हुई, और वहीँ पर नदी के किनारे श्मशान घाट पर इनका अंतिम संस्कार किया गया। मिली रिपोर्ट के मुताबिक पूरा मामला ये है कि काठा गांव के लोग यमुना नदी पार करके अक्सर खेतों में काम करने जाते हैं, और नदी पार करने के लिए लोग नाव का ही सहारा लेते हैं। हालांकि, गांव से करीब 2-3 किलोमीटर पर नदी पार करने के लिए पुल बनाया गया है, लेकिन यह रास्ता गांव वालों के लिए काफी लंबा पड़ता है। इसलिए वे शार्टकट अपनाते हुए नाव का सहारा लेकर नदी पार कर जाते हैं। लेकिन गुरुवार को भी कुछ ऐसा ही हुआ। हर दिन की तरह गुरुवार को भी गांव वाले नाव से यमुना नदी पार कर रहे थे। जहाँ नाव में 8 से 10 लोगों के बैठने की जगह थी। लेकिन नाव चला रहे व्यक्ति ने उसपर 50 से ज्यादा लोगों को बैठा लिया। जिस में महिलाओं की संख्या ज्यादा थी। गांव वालों के मुताबिक जब नाव नदी के बीच पहंची तो वो डगमगा गई, और एक तरफ से झुकने लगी। जिसकी वजह से लोगों में हड़कंप मच गया। इससे पहले की कोई कुछ समझ पाता नाव पूरी तरह पलट गई, जिस में 19 लोगों की जान चली गई.

ये भी पढ़ें :-  दिवाली पर दलितों का दिवाला- दबंगों ने जलाए घर, 50 परिवार सड़कों पर रहने को मजबूर

ग्रामीण सुरेंद्र के बताने के अनुसार अगर नाव में अधिक लोग सवार न होते तो यह घटना नहीं होती। क्योंकि छोटी नाव में ज्यादा लोग के बैठाने की वजह से ही यह हादसा हुआ है। दूसरी तरफ सीएम योगी ने नाव पलटने की घटना पर दुख जताते हुए संवेदनाजताते हुए डीएम को मृतकों के परिजनों को हर संभव राहत मुहैया कराने के निर्देश दिए हैं, और साथ-साथ ही मृतकों के घर वालों को 2 लाख रुपए की आर्थिक राहत देने की घोषणा की है।

लाइक करें:-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>