गुलबर्ग हत्याकांड: दोषियों को उम्रकैद नहीं मिली, उनकी सजा के खिलाफ अपील करेंगे

Jun 17, 2016

अहमदाबाद। गुलबर्ग हत्याकांड मामले में एसआईटी की विशेष अदालत ने सजा का ऐलान कर दिया है. कोर्ट ने मामले में 11 दोषियों को उम्रकैद की सजा, 12 को 7 साल और एक दोषी को 10 साल कैद की सजा सुनाई है. किसी भी दोषी को मामले में फांसी की सजा नहीं दी गई है। सजा का ऐलान होने के बाद तीस्ता सीतलवाड़ ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि हम अदालत के फैसले का स्वागत करते हैं, लेकिन कम सजा दिए जाने को लेकर हम निराश हैं।

उन्होंने कहा कि हम बदला लेने वाला फैसला नहीं चाहते, बल्कि सुधार करने वाला फैसला चाहते हैं। मुआवजे को लेकर पता नहीं जज ने क्या कहा है। हम कम सजा के खिलाफ अपील करेंगे जिन दोषियों को उम्रकैद नहीं मिली, उनकी सजा के खिलाफ हम अपील करेंगे।

हत्याकांड में मारे गए कांग्रेस के पूर्व सांसद एहसान जाफरी की पत्नी जाकिया जाफरी ने कहा है कि सजा के ऐलान से मैं संतुष्ट नहीं हूं, मैं खुश नहीं हूं। मुझे अपने वकीलों से दोबारा सलाह लेनी होगी, यह न्याय नहीं है। इतने लोगों के मरने के बाद, क्या अदालत यही फैसला कर सकी? केवल 12 दोषी? मुझे इसके खिलाफ लड़ना होगा. उन्होंने कहा कि मेरी जद्दोजहद खत्म नहीं हुई है। आगे की लड़ाई जारी रहेगी। इतने सारे लोग, सभी हिंसक थे।

अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>