गुजरात: हिंसा में दो की मौत, 5 ने किया खुदकुशी का प्रयास

Jul 20, 2016

गुजरात में गिर सोमनाथ जिले के उना में पिछले दिनों कुछ दलित युवकों की बर्बर पिटाई का वीडियो सामने आने के बाद इसके विरोध में जारी हिंसक प्रदर्शन थमने का नाम नहीं ले रहा.

मंगलवार को हुए प्रदर्शन के दौरान पथराव में घायल एक पुलिसकर्मी की मौत हो गई जबकि एक व्यक्ति ने तेजाब पीकर खुदकुशी कर ली.

उधर, राजकोट और जूनागढ़ में पांच दलित युवकों ने जहर खाकर जान देने का प्रयास किया. पुलिस ने अलग-अलग स्थानों से ओबीसी एकता मंच और ठाकोर सेना के अध्यक्ष अल्पेश ठाकोर और उनके 40 समर्थकों समेत पांच सौ से अधिक लोगों को हिरासत में लिया है.

ये भी पढ़ें :-  नोटबंदी: पत्रकारों को देखकर आरबीआई गवर्नर कूदने लगे सीढ़िया

अमरेली के पुलिस अधीक्षक जेए पटेल ने बताया कि वहां दलित समाज की रैली के लिए नवचेतन डी परमार ने अनुमति मांगी थी. रैली को राजकमल चौक से कलेक्टर कार्यालय तक जाने की अनुमति दी गई थी. इस दौरान भीड़ ने गलत बर्ताव शुरू कर दिया और तय रास्ता छोड़कर दुकानें बंद कराने और बसों में तोड़फोड़ करने लगे.

पुलिस ने जब उन्हें नियंत्रित करने के लिए हल्का बल प्रयोग और आंसू गैस के गोले छोड़े तो उन्होंने भारी पथराव किया जिससे छह पुलिसकर्मी घायल हो गए. इनमें से एक हेड कांस्टेबल पंकज अमरेलिया (42) को सिर में चोट के बाद राजकोट के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था जहां बाद में उनकी मौत हो गई.

ये भी पढ़ें :-  अरुण शौरी का गंभीर आरोप कहा, मोदी ऐसे इंसान है जो गाली-गलौज और गुंडागर्दी करने को बढावा देतें हैं

 

उधर, जूनागढ़ जिले के भेसाण तालुका के खांभलिया गांव में 40 वर्ष के हेमंत सोलंकी ने घटना के विरोध में तेजाब पीकर आत्महत्या कर ली. हालांकि पूरे मामले की जांच की जा रही है.
ज्ञातव्य है कि मंगलवार को राजकोट और जूनागढ़ में पांच दलित युवकों ने जहर खाकर जान देने का प्रयास किया जबकि सोमवार को ऐसे सात मामले राजकोट और जामनगर जिले में सामने आए थे. उग्र भीड़ ने सोमवार रात राजकोट जिले के धोराजी में राज्य परिवहन निगम की दो बसों तथा जामनगर के ध्रोल के लतीनगर में एक बस को जला दिया था.

उधर, मुख्यमंत्री आनंदीबेन पटेल ने बनासकांठा के अंबाजी में पत्रकारों से कहा कि इस ¨नदनीय घटना के लिए पहले ही चार से पांच पुलिसकर्मियों को  निलंबित किया जा चुका है तथा कई आरोपी पकड़े जा चुके हैं अब भी अन्य दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा. इस बीच, कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष भरतसिंह सोलंकी और नेता प्रतिपक्ष शंकरसिंह वाघेला ने मंगलवार को राजभवन में राज्यपाल ओपी कोहली को एक ज्ञापन सौंपा.

ये भी पढ़ें :-  मनीष सिसोदिया के खिलाफ CBI केस दर्ज, केजरीवाल बोले- पगला गए हैं मोदी

अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>
error: 24hindinews.com\'s content is copyright protected
error: 24hindinews.com\'s content is copyright protected