गोधरा कांड 2002: मोदी की क्लीन चिट बरकरार रहेगी या नहीं, आज आ सकता है हार्इकोर्ट का फैसला

Oct 05, 2017
गोधरा कांड 2002: मोदी की क्लीन चिट बरकरार रहेगी या नहीं, आज आ सकता है हार्इकोर्ट का फैसला

गुजरात में गोधरा कांड के बाद हुए दंगों को लेकर तत्कालीन सीएम नरेंद्र मोदी को क्लीन चिट बरकरार रहेगी या नहीं, इस बारे में आज गुजरात हाई कोर्ट का महत्वपूर्ण फैसला आ सकता है।

बता दें कि जकिया जाफरी की उस याचिका पर कोर्ट आदेश जारी कर सकता है जिसमें 2002 में गोधरा कांड के बाद हुए दंगों के संबंध में तत्कालीन मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी और अन्य को विशेष जांच दल द्वारा दी गयी क्लीन चिट को बरकरार रखने के निचली अदालत के फैसले को चुनौती दी गयी थी। इसमें न्यायमूर्ति सोनिया गोकानी के सामने इस याचिका पर सुनवाई इस साल तीन जुलाई को पूरी हुई थी।

ये भी पढ़ें :-  कासगंज हिंसा: AMU छात्रों की मांग-'चंदन के परिजनों को मिले 50 लाख रुपये का मुआवजा'

आपकी जांनकारी के लिए बता दें कि दिवंगत पूर्व सांसद एहसान जाफरी की पत्नी जकिया और सामाजिक कार्यकर्ता तीस्ता सीतलवाड़ के एनजीओ ‘सिटीजन फार जस्टिस एंड पीस’ ने दंगों के पीछे ‘‘बड़ी आपराधिक साजिश’’ के आरोपों के संबंध में मोदी और अन्य को एसआईटी द्वारा दी गई क्लीन चिट को बरकरार रखने के मजिस्ट्रेट के आदेश के खिलाफ आपराधिक पुनर्विचार याचिका दायर की थी। इस याचिका में ये मांग की गई थी। कि मोदी और वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों एवं नौकरशाहों सहित 59 अन्य को साजिश में कथित रूप से शामिल होने के लिए आरोपी बनाया जाए। इसमें इस मामले की नए सिरे से जांच के लिए हार्इकोर्ट के निर्देश की भी मांग की गई।

ये भी पढ़ें :-  शिवसेना नेता बोले- 'गुजरात चुनाव ट्रेलर था, राजस्थान उपचुनाव इंटरवल है, पूरी फिल्म 2019 में देखेंगे'
लाइक करें:-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>