‘भगवान ने बचा लिया हम जीने की उम्मीद छोड़ चुके थे..

Apr 16, 2017
‘भगवान ने बचा लिया हम जीने की उम्मीद छोड़ चुके थे..

मेरठ से लखनऊ जा रही राज्यरानी एक्सप्रेस दुर्घटना में घायलों ने हादसे का मंजर अपनी जुबानी सुनाया। रेल हादसे में फंसे लोगों का कहना है कि ‘भगवान ने बचा लिया हम जीने की उम्मीद छोड़ चुके थे।’ 

हादसे में घायल एक यात्री मोहम्मद जावेद ने बताया कि वह मेरठ से बरेली जा रहा था अचानक झटका लगने के बाद धूल उड़ने के साथ ट्रेन पलट गई सभी यात्री एक साइड गिरने लगे व एक दूसरे के ऊपर दब गए थे। मौके पर एम्बुलेंस ने पहुंच कर उसे निकाला। बाद में पता चला कि उसका सामान चोरी हो गया है।

हादसे में घायल एक अन्य महिला यात्री रुबीना ने बताया कि वह मेरठ से बरेली जा रही थी। हादसे से पहले कुछ पता नहीं चला, अचानक ट्रेन एक साइड गिरने लगी जिसके बाद उसके ऊपर बोगी में रखा सामान गिरने लगा साथ ही वह यात्रिओं के नीचे दब गई थी। राहत बचाव में लगे लोगों ने उसे निकाला और अस्पताल पहुंचाया।

हादसे में घायल यात्री मोहम्मद जाहिद खान बताते हैं कि उसका पूरा परिवार ट्रेन में सफर कर रहा था। अचानक ट्रेन में झटका लगा और ट्रेन घिसटती हुई एक साइड गिर गई। उन्होंने कहा कि प्रशासन के पहुंचने के बाद हमें वहां से निकाल कर अस्पताल पहुंचाया गया। आंखों में आंसू लिए उन्होंने कहा कि हमें लगा की अब मौत निश्चित है जीने की उम्मीद छोड़ दी थी लेकिन ऊपर वाले ने हमें बचा लिया है।

मुजफ्फरनगर जिले के रहने वाले एक यात्री सहदेव सिंह ने बताया कि ट्रेन में आवाज हुई जिसके बाद झटके लगे और ट्रेन गिरने लगी। सभी यात्री एक दूसरे के ऊपर दब चुके थे सामान भी उनके ऊपर गिरने लगा था। दम घुटने लगा था। लेकिन रहत में लगे लोगों ने हमें वहां से निकाल कर हमारी जिंदगी बचा ली।

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>