लड़की ने रेप के नाम पर डॉक्टर से वसूले थे एक करोड़ रुपये, फेसबुक लाइव कर फंसी

Nov 01, 2017
लड़की ने रेप के नाम पर डॉक्टर से वसूले थे एक करोड़ रुपये, फेसबुक लाइव कर फंसी

वैसे तो अभी तक ये देखा गया है कि सोशल मीडिया साइट फेसबुक अक्सर लोगों को शोहरत की बुलंदियों पर पहुंचाने में मदद करता है। लेकिन इस बार फेसबुक ने किसी मशहूर सख्स को हवालात के अंदर पहुंचाने में पुलिस की मदद की है। क्योंकि फेसबुक के जरिये हाई प्रोफाइल ब्लैक मेलिंग कॉल रैकेट चलाने वाली महिला शिखा तिवारी अब सलाखों के पीछे पहंच चुकी हैं।

बता दें कि मुंबई के एक होटल में बतौर डीजे काम करने वाली 21 वर्षीय शिखा तिवारी उर्फ डीजे अदा को राजस्थान पुलिस ने गिरफ्तार किया है। क्योंकि उन्होंने जयपुर के डॉक्टर से एक करोड़ की ब्लैकमेलिंग करके फरार हो गई थी। जिसके बाद शिखा तिवारी को जयपुर की पुलिस कई दिनों से तलाश कर रही थी। लेकिन उनका कोई पता नहीं चल पा रहा था, पर जैसे ही उन्होंने अपने फेसबुक पर अपने आप को लाइव किया तरुंत पुलिस ने कड़ी से कड़ी जोड़ते हुए इस ठग महिला को गिरफ्तार कर लिया।

दरअसल, इस महिला की कहानी सुनने के बाद आप अपने दांतो तले उंगलियां दबा लेंगे। क्योंकि इनकी कहानी ही कुछ ऐसी है मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक आरोपी शिखा तिवारी ब्लैकमेलिंग करने वाले उस गैंग की सदस्य है जो रियल एस्टेट एजेंट्स, डॉक्टर्स वगैरह को जाल में फंसाता है। पुलिस ने इस गैंग के 33 लोगों को अब तक पकड़ा है, इनमें पांच महिलाएं शामिल हैं। इस रैकेट पर करीब 20 करोड़ रुपये लोगों को ट्रैप कर वसूलने का आरोप है। इन्होंने कुछ ऐसा ही किया जयपुर में रहने वाले डॉक्टर सुनीत सोनी के साथ शिखा ने।

शिखा तिवारी से डॉक्टर सुनीत की मुलाकात उसी की क्लिनिक में हुई थी जब वो हेयर ट्रांसप्लांट कराने के लिए उससे मिली थी। लेकिन समय गुज़रने के साथ ही शिखा ने जल्द ही डॉक्टर को अपनी गिरफ्त में ले लिया और सुनीत के काफी नजदीक आ गई। कुछ दिनों के गुज़रने के बाद ये दोनों पुष्कर गए। वहां पहुंचकर सीखा ने डॉक्टर को झूठे रेप के केस में फंसा दिया। जिसकी पूछताछ अभी चल ही रही थी कि शिखा तिवारी ने एक बार फिर डॉक्टर को मामला सेटल करने के लिए पांच करोड़ की फिरौती मांगी, जब डॉक्टर ने पैसे देने से मना किया तो शिखा ने पुलिस में रेप की शिकायत दर्ज कराकर इसको जेल भेज दिया जहाँ वो 78 दिनों तक जेल में बंद रहा।

कुछ दिन बाद डॉक्टर ने इस मामला को एक करोड़ में तय कर दिया और रकम शिखा के हवाले कर दिया। रकम लेने के बाद वो जयपुर से मुंबई भाग गई। सिर्फ यह सोचकर कि वो पकड़ी नहीं जाएगी लेकिन फेसबुक लाइव उसके लिए काल बनकर आया काफी दिनों से सीखा तिवारी की जयपुर पुलिस को तलाश थी पर जैसे ही शिखा तिवारी फेसबुक पर अपने आप को लाइव किया पुलिस ने सीखा तिवारी को ट्रैक कर के धर दबोचा।

लाइक करें:-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>