गाजियाबाद: फीस न चुका पाने पर अध्यापिका ने किया पिता को बेइज्जत, बेटी ने कर ली आत्महत्या

Jul 28, 2016

गाजियाबाद के घूकना में बुधवार शाम नौवीं की छात्रा प्रियांशी उर्फ जसमीन (16) ने फीस के तानों से परेशान होकर आत्महत्या कर ली। इस संबंध में स्कूल की कार्यवाहक प्रिंसिपल समेत छह महिला टीचर्स के खिलाफ नामजद एफआईआर दर्ज कराई गई है। पुलिस ने चार आरोपी टीचर्स को हिरासत में ले लिया है।

प्रियांशी 388/30 सेवानगर में परिवार के साथ किराए के मकान में रहती थी। उसका परिवार इटावा के रामपुरा का रहने वाला है। उसके रतन सिंह तोमर एक प्राइवेट कंपनी में नौकरी करते हैं।

एक भाई और तीन बहनों में वह सबसे बड़ी थी। प्रियांशी अपनी बहनों अनुष्का, कृष्णा और भाई सुदक्ष के साथ घूकना स्थित डीएसपी स्कूल में पढ़ती थी। उसने हाल ही में 8वीं पास की थी, तीन दिन पहले नौवीं क्लास में लोहियानगर स्थित गुरुनानक स्कूल में एडमिशन लिया था।

ये भी पढ़ें :-  उप्र : सीआरपीएफ जवान ने की व्यापारी की हत्या

वहीं, अनुष्का ने पांचवीं, कृष्णा ने दूसरी और सुदक्ष ने नर्सरी में डीएसपी स्कूल से नाम कटवाकर सेवानगर स्थित कमल पब्लिक स्कूल में दाखिला ले लिया था। डीएसपी स्कूल की तीन महीने की करीब 11 हजार रुपये फीस इन पर बकाया थी।

रतन सिंह ने बताया कि बुधवार सुबह करीब साढ़े नौ बजे बकाया फीस लेने के लिए स्कूल की टीचर मधु और अशोक इनके घर पहुंचीं, मगर घर पर ताला लगा होने की वजह से वापस लौट गईं।

दोपहर करीब दो बजे स्कूल की कार्यवाहक प्रिंसिपल शशि, टीचर दुर्गेश, अशोक, प्रियंका, मधु और कविता फीस मांगने फिर इनके घर पहुंचीं। रतन सिंह ने उनसे कहा कि उनके पास अभी इंतजाम नहीं है, वह बाद में फीस दे देंगे, लेकिन आरोपियों ने उनसे तुरंत फीस के पैसे देने को कहा।

ये भी पढ़ें :-  मप्र में बिजली चोरों से कंपनियों ने वसूले 26 करोड़ रुपये

आरोप है कि पि्रंसिपल और टीचर्स ने रतन सिंह के साथ मारपीट की और बचाव में आई प्रियांशी को भी अपमानित किया। इतना ही नहीं, टीचर्स ने कंट्रोल रूम में फोन कर सूचना दी कि रतन सिंह उनसे अभद्रता कर रहा है।

नंदग्राम पुलिस मौके पर पहुंची और रतन को चौकी ले गई। इससे आहत प्रियांशी ने शाम करीब चार बजे कमरे में जंगले पर लटक कर आत्महत्या कर ली। एसएचओ सिहानी गेट अवनीश गौतम ने बताया कि रिपोर्ट दर्ज कर चार आरोपी टीचर्स को हिरासत में ले लिया गया है। बाकी की तलाश की जा रही है।

सिहानी गेट थाने पहुंची मोहल्ले की महिलाओं ने पकड़ी गईं आरोपी टीचर्स के साथ मारपीट की। पुलिस ने उन्हें समझाकर शांत किया। इस मामले में आरोपी टीचर्स का कहना है कि उन्हें तो प्रिंसिपल ने रतन सिंह के घर जाने के लिए कहा था, उनका इसमें कोई कुसूर नहीं है।
स्कूल की कराई जाएगी जांच
‘यह मामला संज्ञान में नहीं था, पूरे मामले की जांच कराई जाएगी। विद्यालय की मान्यता है भी या नहीं, इसकी भी जांच होगी। इसके बाद कार्रवाई की जाएगी।- डा. प्रवेश यादव, बीएसए

ये भी पढ़ें :-  अमिताभ बच्चन फेसबुक से नाखुश, टिवट्र पर की शिकायत

अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>