मुलायम के कहने पर मंत्री गायत्री करोड़ों खर्च कर कराएंगे सपा के 25 साल पूरे होने पर जश्न

Oct 14, 2016
मुलायम के कहने पर मंत्री गायत्री करोड़ों खर्च कर कराएंगे सपा के 25 साल पूरे होने पर जश्न
यूपी में सपा मुखिया मुलायम सिंह यादव ने मंत्री गायत्री को सिल्वर जुबली समारोह का संयोजक बना दिया है। पार्टी के 25 साल पूरे होने पर पांच नवंबर को बड़ा कार्यक्रम होना है। कहा जा रहा है कि गायत्री अकेले दम पर करोड़ों खर्च कर यह आयोजन सफल बनवाएंगे। इसी उम्मीद में मुलायम ने उन्हें यह जिम्मेदारी दी है।
क्या थे गायत्री और क्या हो गए
कभी 2002 में  गरीबी रेखा के नीचे गुजर-बसर करने वाले गायत्री सपा से जुड़ते ही विधायक बने और खनन मंत्री बनते ही सूबे के सबसे वजीर मंत्री बन गए। भ्रष्टाचार के आरोप में सीएम अखिलेश ने निलंबित किया मगर यह मुलायम का अपना खास समाजवादी नजरिया रहा कि अखिलेश की नजरों से गिरे गायत्री को फिर से सरकार को अपनी  पलकों पर बैठाने के लिए मजबूर कर दिया। आज एक हजार करोड़ से ज्यादा धनराशि गायत्री की ओर से बेटों की कंपनियों में निवेश करने की सुबूत सहित शिकायत लोकायुक्त से हो चुकी है। इससे कई  गुना ज्यादा बेनामी संपत्ति होने की बात कही जाती है। ऐसे में करोड़ों खर्च के आयोजन का जिम्मा सूबे की सरकार में गायत्री प्रसाद ही करने में सक्षम है। वैसे मुलायम अपने पुराने फाइनेंसर मीडिएटर अमर सिंह की भी मदद ले सकते थे। मगर मुलायम को अच्छे से पता है कि अमर सिंह जितना लाभ पहुंचाते हैं जरा सा रूठने पर जगह-जगह गाना गाकर अहसान जताते हैं।
गायत्री की पार्टी में उपयोगिता साबित करना चाहते हैं मुलायम
 मुलायम सिंह यादव ने अपने चेले गायत्री प्रसाद को पार्टी की सिल्वर जुबली को लेकर पांच नवंबर को होने जा रहे बड़े आयोजन की जिम्मेदारी देकर संदेश देने की कोशिश की है। दरअसल जब भ्रष्टाचार के आरोपों से घिरे गायत्री प्रसाद को अखिलेश ने सस्पेंड किया, इसके कुछ दिन बाद मुलायम ने गायत्री को दोबारा मंत्रिमंडल में अपने वीटो पावर से सेट कराते हुए परिवहन मंत्रालय दिलाया। तब मुलायम के फैसले को लेकर पार्टी में ही अंदरखाने सवाल उठे। हालांकि किसी को मुलायम के सामने यह सवाल करने की हिम्मत नहीं हुई। मगर मुलायम के करीबियों ने जरूर उनके फैसलें पर आ रही प्रतिक्रियाओं से अवगत कराया। जिस पर मुलायम सिंह ने गायत्री की पार्टी में उपयोगिता साबित करने के लिए इस बड़े आयोजन का  जिम्मा सौंपने का मूड बनाया। ताकि यह कार्यक्रम सफल रहे तो संदेश दिया जा सके कि मुलायम क्यों गायत्री पर  मेहरबान हैं। हालांकि यह सब जानते हैं कि प्रतीक के लिए बिजनेस अंपायर खड़ा करने  में मदद के चलते ही मुलायम के गायत्री कृपापात्र हैं।
अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे
ये भी पढ़ें :-  चुनावी मौसम में बेफ़िक्र मुलायम ने घर पर मनाया पोती का जन्मदिन
लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>
error: 24hindinews.com\'s content is copyright protected
error: 24hindinews.com\'s content is copyright protected