मेरा जबरन एबॉर्शन करवा बच्ची काे जिंदा दफना दिया

Jul 26, 2016

पुणे: महाराष्ट्र के बारामती में कन्या भ्रूण हत्या का एक सनसनीखेज मामला सामने अाया है, जिसमें महिला ने अपने पति, ससुराल वालों और डॉक्टर के खिलाफ भी केस दर्ज करवाया है। महिला का अाराेप है कि लड़के की चाहत में ससुराल वालाें ने उसका तीन बार प्रेग्नेंसी टेस्ट करवाया और जब उन्हें पता चला कि बेटी है, ताे उन्हाेंने उस नवजात को जिंदा दफन कर दिया।

पीटते थे पति और सास-ससुर
24 साल की प्रियंका लोणकर ने बताया कि उसकी शादी 2010 में हुई थी और 2012 में उसने एक बच्ची को जन्म दिया। 4 साल तक ताे सब ठीक रहा। लेकिन पिछले एक साल में उसकी तीन बार सोनोग्राफी करवाई गई। जब पति काे पता चलता कि मेरे गर्भ में लड़की है, ताे वो मुझे जबरन एबॉर्शन करवाने ले जाता। मेरी सास-ससुर भी इसमें उनका साथ देते और मेरे मना करने पर मुझे पीटते। वह किसी न किसी बहाने सोनोग्राफी को टालती रहीं।

जिंदा बच्ची काे किया दफन
लेकिन एक दिन पति महेंद्र लोणकर और सास-ससुर उसकी आंखों पर पट्टी बांधकर उसे बारामती से 35 किलोमीटर दूर मालवाड़ी के छोटे अस्पताल ले गए, जहां उन्हें दूध में दवाई डालकर पिलाई गई और मना करने पर पीटा गया। यहां उसकी दाेबारा सोनोग्राफी की गई। फिर दो दिनों बाद एबॉर्शन करवाया गया। इसके बाद पति और ससुर उसकी जिंदा बच्ची काे गाड़ी के डिक्की में डालकर किसी खेत में ले गए और उसे वहीं दफन कर दिया।

प्रियंका को मिला साथ
प्रियंका के दर्द को देखते हुए महिला भूमाता ब्रिगेड ने उनकी लड़ाई में साथ देने का फैसला किया है। पुलिस ने आईपीसी की धारा 498ए, 323, 313, 504, 506 और 34 के तहत आठ लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। वहीं, बताया जाता है‍ कि आरोपी एक नगर सेवक है और उसकी ऊंची पहुंच के कारण जांच में ढील बरती जा रही है।

अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>