बाढ़ से भयावह स्थिति, प्रभावित इलाकों से लोग कर रहे पलायन, दांव पर जिंदगी

Aug 24, 2016

नई दिल्ली। कुछ इलाकों में हुई भारी बारिश और नदियों के बढ़ते जलस्तर के चलते देश के कई राज्यों में से जनजीवन खासा प्रभावित हुआ है।

के वाराणसी, इलाहाबाद, मिर्जापुर, मध्यप्रदेश के सतना, रीवा, के पटना, बेगूसराय, सहित कई अन्य क्षेत्रों में नदियों का जल स्तर बढ़ने से आई बाढ़ के चलते लोगों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

कहीं पूरा का पूरा गांव पलायन कर रहा है तो जहां लोग इलाके से बाहर जाने की स्थिति में भी नहीं है वो इसी बाढ़ में अपना जीवन गुजार रहे हैं।

वाराणसी में बाढ़ की मौजूदा स्थिति पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी चिंता व्यक्त की है। अपने ट्वीटर एकाउंट पर पीएम मोदी ने लिखा है कि वाराणसी में बाढ़ की स्थिति पर चिंतित हूं।

Deeply concerned by the flood situation in Varanasi. PMO is closely monitoring the situation & is in touch with with local authorities.

— Narendra Modi (@narendramodi)

पीएमओ स्थिति पर करीब से नजर रखे हुए है साथ ही स्थानीय प्रशासन से संपर्क में है। पीएम ने लिखा है कि वाराणसी में एनडीआरएफ की टीमें राहत और बचाव कार्य रही है।

यहां देखें बाढ़ प्रभावित राज्यों की तस्वीरें

The story continues. Click through the slides for more:

ये हैं हालात

बताया जा रहा कि नेपाल की ओर से छोड़े गए पानी के चलते यूपी, एमपी, बिहार और पश्चिम बंगाल के कई इलाकों में बाढ़ की स्थिति पैदा हुई है। साथ ही मौसम विभाग के मुताबिक अभी और बारिश की संभावना है।

बिहार में 22 की मौत

बता दें कि बाढ़ के कारण बिहार में अब तक 22 लोगों की जहां मौत हो चुकी है यहां गंगा,सोन,पुनपुन,बुढ़ी गंडक घाघरा और कोसी नदी में बढ़े हुए जलस्तर के चलते 12 जिलों के 23.71 लाख लोग बुरी तरह प्रभावित हैं।

सड़क पर लगा रहे हैं आस्था की डुबकी

बात उत्तर प्रदेश की करें तो हालात यहां भी खराब हैं। यहां के इलाहाबाद में जो लोग करीब 3-4 किलोमीटर पैदल चलकर संगम में आस्था की डुबकी लगाते थे, उन्हें अब सड़क पर ही आस्था का स्नान करना पड़ रहा है।

हवेलियों की छतों पर जल रहे हैं शव

वाराणसी में मणिकर्णिका और हरिश्चंद्र घाट पर जो लोग शव लेकर आ रहे हैं उन्हें जलाने के लिए घंटों का इंतजार करना पड़ रहा है क्योंकि घाट पूरी तरह से गंगा में सराबोर हो चुके हैं और जगह की कमी होने के कारण आसपास की हवेलियों की छत पर शवदाह किया जा रहा है। यहां जिलाधिकारी के आदेश पर 23 से 25 अगस्त तक के लिए स्कूल भी बंद कर दिए गए हैं।

एनडीआरएफ की टीमें रवाना

बता दें कि बाढ़ की भयावह स्थिति देखते हुए एनडीआरएफ की 10 और टीमें बिहार और यूपी के लिए रवाना की गईं हैं।

पश्चिम बंगाल में 4 की मौत

पश्चिम बंगाल में बाढ़ के कारण जहां 4 लोगों की मौत हो गई है वहीं जलपाईगुडी, कूच बिहार और अलीपुरद्वार में 150 गांवों में करीब 58,000 लोग प्रभावित हैं। मध्यप्रदेश में अब तक 102 लोगो की मौत हो चुकी है और कई लोगों के लापता होने की खबर भी है।

मवेशियों के लिए है संकट

बाढ़ में इंसान तो जैसे तैसे काम चल सकता है लेकिन मवेशियों के लिए बड़ा संकट हो जाता है। तस्वीर बिहार के पटना की जहां लोग अपने मवेशियों को सुरक्षित स्थान पर ले जा रहे हैं।

पक्षियों के लिए भी संकट की घड़ी

तस्वीर पश्चिम बंगाल के बीरभूमि की जहां पेंगु पक्षी को बाढ़ की चपेट से बचाते स्थानीय।

सड़कें हैं गायब

तस्वीर मध्यप्रदेश के रीवा की जहां बाढ़ के पानी में सड़क का कहीं नामो निशां नहीं है।

इलाहाबाद की हवाई तस्वीर

हेलिकॉपटर से क्लिक की गई फोटो में बाढ़ में डूबे शहर की एक तस्वीर।

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>