ऐसे पता लगाएं कि आप डिप्रेशन के शिकार तो नहीं है?

Apr 14, 2016

नई दिल्ली। छोटे पर्दे की मशहूर अभिनेत्री प्रत्यूषा बनर्जी की खुदकुशी ने पूरे देश को हिलाकर रख दिया है। इस खुदकुशी के पीछे वजह डिप्रेशन बताई जा रही है। डिप्रेशन अचानक नहीं होता, लंबे समय से इसके संकेत नजर आने लगते हैं। इसके शिकार हम और आप भी हो सकते हैं, इसलिए आपके लिए ये जानना बेहद जरूरी है कि हम कैसे धीरे-धीरे डिप्रेशन के शिकार हो जाते हैं और हमे पता ही नहीं चलता।
अगर आप छोटी-छोटी बातों पर परेशान रहने लगे। किसी की बात पर आपको विश्वास ना हो, किसी से मिलने का मन ना करें, तो आप समझ लें कि आप डिप्रेशन के शिकार हो रहे हैं, इसलिए आप सावधान हो जाएं और किसी मनोचिकित्सक की सलाह लें।

अगर अचानक आपके रातों की नींद उड़ जाए, रात को सोते-सोते अचानक जगकर बैठ जाना सभी डिप्रेशन के लक्षण हैं। चिड़चिड़ापन भी इसका शुरुआती संकेत है।
अगर आप इतने परेशान रहने लगे कि आपको अपनी जिंदगी प्यारी ना लगें, आप सुसाइड करने के तरीके ढू़ढ़ने लगे तो समझिए की आप गहरे डिप्रेशन में हैं और आपको मनोचिकित्सक की जरूरत है।
बहुत ज्यादा थकान रहना या फिर जरा काम करने से थकान होना भी डिप्रेशन होने का लक्षण है। काम पर फोकस न कर पाना भी इसका लक्षण है।
किसी बात के लिए बहुत ज्यादा पछतावा होना, निराश महसूस करना और आत्मग्लानि होना भी डिप्रेशन का लक्षण है।

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>