हाफिज सईद पर फतवा जारी, इस्लाम से खारिज किया जाए

Aug 19, 2016

पाकिस्तानी आतंकी को लेकर दरगाह आला हजरत ने यह फतवा जारी किया है, जो जयपुर से मांगा गया था। इस पर दरगाह के मुफ्ती ने कहा है कि हाफिज सईद अपने अकायद (आस्था) और विचारधारा की वजह से गुस्ताख-ए-रसूल है। ऐसे गुस्ताख को मजहबी मसीहा मानने वाले मुसलमान भी इस्लाम से खारिज हैं, क्योंकि हाफिज को मुसलमान मानना, उसकी राय को सुनना भी नाजायज है। हाफिज आतंकी विचारधारा वाला शख्स है, जो इस्लाम और मुसलमानों को बदनाम कर रहा है।

शरीयत ऐसे शख्स से मुसलमानों को बचने का हुक्म देती है। दरअसल राजस्थान के जयपुर निवासी मुहम्मद मुईनुद्दीन ने सवाल किया था कि हाफिज सईद, जो गुमराह अकायद और विचारधारा का प्रचारक है, लोगों को खून-खराबे, आतंकी घटनाओं के लिए उकसाता है, क्या ऐसे शख्स को मुसलमान माना जा सकता है? क्या ऐसे शख्स की बातों और भाषणों को सुनना जायज है।

जिस पर मुफ्ती मुहम्मद सलीम नूरी ने जवाब में कहा है कि अल्लाह और उसके रसूल की शान में गुस्ताखी करने वाले ऐसे लोग इस्लाम से खारिज हैं। उनसे तमाम तरह के रिश्ते तोड़ने का हुक्म है। पाक आतंकी हाफिज से किसी तरह के भी रिश्ते नहीं रखे जा सकते। जो मुसलमान रखेगा, इस्लाम से खारिज हो जाएगा।

अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>