Fake Shake: JNU में हैंडपंप लेकर घुसे सनी देओल, कैंपस से स्टूडेंट्स फरार

Feb 23, 2016

नई दिल्ली, जेएनयू में आजकल चल रही राजनीति में अचानक क्रांतिकारी बदलाव आ गया। जो छात्र और फैकल्टी मेम्बर पुलिस से भी नहीं डर रहे थे कल अचानक कैंपस से गायब हो गए। हुआ यूं कि वकीलों से बुरी तरह पिटने के बाद विश्वविद्यालय के फैकल्टी मेम्बर्स और स्टूडेंट्स कैंपस में ही सभा कर रहे थे। तभी अचानक कहीं से गरजती हुई आवाज आई कि ‘अशरफ अली को घर में घुसकर मारा था, हाफिज सईद को भी घर में घुस कर मारेंगे’।
ये सुनकर स्टूडेंट्स और फैकल्टी मेम्बर्स ने समझा कि शायद वकील अब कोर्ट छोड़कर उनके पीछे-पीछे यहां तक आ गए हैं। हमारे संवाददाता ने बताया कि इसके बाद जैसे ही छात्र गेट के पास पहुंचे गरजती हुई आवाज आई कि ‘हिन्दुस्तान जिंदाबाद था, जिंदाबाद है, जिंदाबाद रहेगा,’ और अचानक से तारा सिंह, तारा सिंह उर्फ सनी पाजी के नाम का शोर मचने लगा। देखते ही देखते कैंपस ऐसे खाली हो गया जैसे वहां कोई था ही नहीं।
पुलिस के एक सिपाही ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि ‘काला कुर्ता पहने एक स्टूडेंट जो तीन दिन से बिना नहाए कैंपस में ही घूम रहा था तारा सिंह का नाम सुनते ही भागा और जब मैंने उसे रोकने की कोशिश की तो रोने लगा। मुझे मेरे बच्चों का वास्ता देने लगा तो फिर मैंने उसे जाने दिया। उधर हमने जब पुलिस कस्टडी में सनी देओल से बात की तो उन्होंने बताया कि मेरी फिल्म हिट होने के बाद भी अभी तक किसी डायरेक्टर या प्रोड्यूसर का फोन नहीं आया तो कल बॉबी मेरे पास आया और कहा कि भैया इस एक फिल्म के भरोसे कब तक घर चल पाएगा। तब मैंने सोचा की अब ‘गदर दोबारा’ बनानी पड़ेगी। फिर प्यार से अपने हैंडपंप, जो कि उनके पास ही रखा था, पर हाथ फेरते हुए बोले की पिछली बार तो मैडम जी को पकिस्तान से ले आया था। अबकी मैंने सोचा की कन्हैया को पाक छोड़ आता हूं।
हमारे संवाददाता ने जब स्टूडेंट्स और फैकल्टी मेम्बर्स से बात करनी चाही तो सबने मुंह खोलने से मना कर दिया। बोले जब तक सनी देओल को वापस मुंबई नहीं भेजा जाता तब तक हम चुप रहेंगे।
(काल्पनिक खबर-फेकिंग न्यूज)

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>