न्यूज चैनलों पर प्रसारित किए एग्जिट पोल के नतीजों

May 17, 2016

विभिन्न टीवी न्यूज चैनलों पर प्रसारित किए एग्जिट पोल के नतीजों के मुताबिक असम में कांग्रेस को बेदखल कर भाजपा को सरकार बनाने का मौका मिलेगा जबकि तमिलनाडु में जयललिता के अन्नाद्रमुक को हटाकर द्रमुक-कांग्रेस गठबंधन सत्ता पर काबिज होगा.

इन नतीजों पर यकीन करें तो केरल में भी कांग्रेस सत्ता गंवाएगी और वहां वाम लोकतांत्रिक मोर्चे (एलडीएफ) को सरकार बनाने का मौका मिलेगा.
बहरहाल, एग्जिट पोल के नतीजों के मुताबिक मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पश्चिम बंगाल में वाम-कांग्रेस को करारी शिकस्त देकर अपनी सत्ता बचाने में कामयाब रहेंगी.
असम में यदि भाजपा को सरकार बनाने का मौका मिला तो यह पूर्वोत्तर में पार्टी की पहली सरकार होगी.
कांगेस के लिए राहत की बात ये हो सकती है कि उसे केंद्रशासित प्रदेश पुदुचेरी की सत्ता में दोबारा लौटने का मौका मिलने की संभावनाएं हैं. पुदुचेरी में अभी द्रमुक की सरकार है.
तमिलनाडु, केरल और पुदुचेरी में सोमवार को मतदान संपन्न हुआ. इससे पहले पश्चिम बंगाल और असम में चुनाव हो चुके हैं. पांचों राज्यों के चुनावों की मतगणना 19 मई को होगी.
असम में भाजपा के लिए काफी कुछ दांव पर है. इंडिया टुडे-एक्सिस-माय इंडिया के मुताबिक, कुल 126 विधानसभा सीटों वाले असम में भाजपा को 79-93 सीटें मिल सकती हैं. कांग्रेस को 26-33 सीटें मिलने की संभावना है जबकि बदरूद्दीन अजमल की पार्टी एआईयूडीएफ को 6-10 सीटें मिल सकती हैं. अन्य को 1-4 सीटें मिल सकती हैं.
एबीपी आनंदा के एग्जिट पोल नतीजों के मुताबिक, असम में भाजपा को 81, कांग्रेस को 33 और एआईयूडीएफ को 10 सीटें मिल सकती हैं जबकि अन्य को पांच सीटें मिलने का अनुमान है.
टाइम्स नाऊ-सी वोटर ने भाजपा को 57 जबकि कांग्रेस को 41 और एआईडीयूएफ एवं अन्य को क्रमश: 18 और 10 सीटें मिलने का पूर्वानुमान व्यक्त किया है.
टुडेज चाणक्य ने भाजपा को 90 सीटें मिलने की संभावना जताई है जबकि कांग्रेस को 27 और एआईयूडीएफ को नौ सीटें मिलने की संभावना है.
असम में अभी कांग्रेस के पास 78 जबकि भाजपा के पास महज 5 सीटें हैं. एआईयूडीएफ की 18 सीटें हैं जबकि भाजपा की मौजूदा गठबंधन सहयोगी बोडो पीपुल्स फ्रंट (बीपीएफ) और असम गण परिषद के पास क्रमश: 12 और 10 सीटें हैं.
तमिलनाडु में जयललिता की अगुवाई वाले अन्नाद्रमुक की हार का पूर्वानुमान करते हुए एग्जिट पोलों ने द्रमुक-कांग्रेस गठबंधन को 234 सदस्यीय विधानसभा में बहुमत मिलता दिखाया है.
इंडिया टुडे-माय एक्सिस-इंडिया के एग्जिट पोल के मुताबिक, तमिलनाडु में द्रमुक-कांग्रेस गठबंधन को 124-140 सीटें मिलेंगी जबकि अन्नाद्रमुक को 89-101 सीटें मिलेंगी. भाजपा को 0-3 सीटें मिलने की संभावना है जबकि अन्य को 4-8 सीटें मिल सकती हैं.
न्यूज नेशन के पोल ने द्रमुक-कांग्रेस गठबंधन को 114 से ज्यादा सीटें मिलने की संभावना जताई है जबकि अन्नाद्रमुक को 95-99 सीटें मिलने का पूर्वानुमान किया था. भाजपा को चार और अन्य को 23 सीटें मिल सकती हैं. टुडेज चाणक्य ने द्रमुक-कांग्रेस गठबंधन को 140 सीटें दी है जबकि अन्नाद्रमुक को 90 और विजयकांत की अगुवाई वाले प्रोग्रेसिव वेलफेयर फंट एवं अन्य को चार सीटें मिलने का पूर्वानुमान किया है.
बहरहाल, सी-वोटर ने अन्नाद्रमुक को 139 सीटें देकर उसकी जीत का पूर्वानुमान किया है. सी-वोटर ने द्रमुक-कांग्रेस गठबंधन को 78, भाजपा को शून्य और अन्य को 17 सीटें मिलने की संभावना जताई है.
मौजूदा तमिलनाडु विधानसभा में अन्नाद्रमुक के 150, द्रमुक के 23, डीएमडीके के 29 और कांग्रेस के 5 विधायक हैं.
केरल में माकपा की अगुवाई वाले एलडीएफ द्वारा कांग्रेस की अगुवाई वाले यूडीफ को सत्ता से बेदखल करने का पूर्वानुमान व्यक्त किया गया है.

 

इंडिया टीवी पर प्रसारित एग्जिट पोल के नतीजों में एलडीएफ को 74 से 82 जबकि यूडीएफ को 54 से 62 सीटें मिलते दिखाया गया. भाजपा एवं अन्य को 4-4 सीटें मिलने की संभावना है. इंडिया टुडे-एक्सिस पोल में एलडीएफ को 88 से 101 जबकि यूडीएफ को 38 से 48 सीटें मिलने की संभावना जताई गई है. भाजपा को तीन सीटें मिल सकती हैं.
सी-वोटर ने एलडीएफ को 78, यूडीएफ को 58 और भाजपा को दो सीटें मिलने की संभावना जताई है. पिछले चुनाव में यूडीएफ को 72 जबकि एलडीएफ को 68 सीटें मिली थीं.
एग्जिट पोल के मुताबिक, पश्चिम बंगाल में सत्ता परिवर्तन नहीं होने जा रहा. ममता बनर्जी सत्ता में बनी रहेंगी.
एबीपी आनंद ने सत्ताधारी तृणमूल कांग्रेस को 178 सीटें मिलने की संभावना जताई है. पिछले विधानसभा चुनाव में तृणमूल को 184 सीटें मिली थी. वाम-कांग्रेस गठबंधन को 110 सीटें मिलने का पूर्वानुमान व्यक्त किया गया है. वामपंथी पार्टियों और कांग्रेस को पिछले चुनाव में कुल 103 सीटें मिली थीं. लेकिन पिछले चुनाव में तृणमूल कांग्रेस और कांग्रेस का गठबंधन था.
इंडिया टुडे-एक्सिस माय इंडिया ने 294 सदस्यीय पश्चिम बंगाल विधानसभा में तृणमूल को 233-253 सीटें मिलने की भविष्यवाणी की है जबकि वाम-कांग्रेस गठबंधन को महज 38 से 51 सीटें मिलने का पूर्वानुमान किया है. भाजपा एवं अन्य को 5-5 सीटें मिलने की संभावना है.
टाइम्स नाऊ-सी वोटर ने तृणमूल कांग्रेस को 167, वामपंथी पार्टियों को 75 और कांग्रेस को 45 सीटें मिलने की संभावना जताई है. इसने भाजपा को 4 और अन्य तीन सीटें मिलने की संभावना जताई.
टुडेज चाणक्य ने तृणमूल को 210 जबकि वाम-कांग्रेस गठबंधन को 70 और भाजपा को 14 सीटें मिलने का पूर्वानुमान किया है.
इंडिया टुडे-एक्सिस माय इंडिया पोल के मुताबिक, पुदुचेरी में कांग्रेस-द्रमुक गठबंधन को 15-21 सीटें मिलने का अनुमान है. पुदुचेरी विधानसभा में कुल 30 सीटें हैं. अन्नाद्रमुक को 1-4 जबकि सत्ताधारी ऑल इंडिया एन आर कांग्रेस को 8-12 सीटें मिलने का अनुमान है जबकि अन्य को दो सीटें मिल सकती हैं.
इंडिया टीवी- सी वोटर ने कांग्रेस-द्रमुक गठबंधन को 10-18 जबकि एआईएनआरसी को 5-13 सीटें मिलने का अनुमान व्यक्त किया है. अन्नाद्रमुक को 1-9, भाजपा को दो और अन्य को 0-4 सीटें मिलने की संभावना है.
निवर्तमान सदन में एआईआरएनसी के पास 15, कांग्रेस के पास 7, अन्नाद्रमुक के पास 5, द्रमुक के पास 2 विधायक हैं जबकि एक सीट निर्दलीय के पास है.
 अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे

 

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>