इस गांव के हर एक पति को मिलता है, दो पत्नियों का सुख

Jul 07, 2017
इस गांव के हर एक पति को मिलता है, दो पत्नियों का सुख

देश के कई गांव ऐसे हैं, जहां तमाम अनोखे रीति-रिवाज चलते हैं। मगर राजस्थान के बाड़मेर में एक गांव ऐसा है, जहां हर पुरुष को दो-दो शादियां करनी पड़ती हैं। कारण बहुत रोचक है। क्योंकि पहली पत्नी से बच्चा ही पैदा नहीं होता। गांव में करीब 70 मकान है और वहां पर रहने वाले अल्‍पसंख्‍यक समुदाय से हैं। देरासर ग्राम के इस इलाके में एक युवक दो शादियां करता है। सभी के साथ एक ही चीज है कि पहली पत्‍नी से संतान सुख नहीं मिलता है और दूसरी शादी करते ही संतान होने लगती है।

50 की उम्र पार भी नहीं हुआ बच्चा
कुछ पुरुष तो संतान की चाह में 50 की उम्र पार कर गए लेकिन पहली पत्‍नी से बच्‍चे नहीं हुआ लेकिन इसके बाद जब दूसरी शादी की तो किसी को चार बेटे तो किसी को 5 बेटियों का सुख मिला।इस गांव में इक्‍का-दुक्‍का परिवार को छोड़कर सभी पुरुषों की दो पत्‍नियां है। अब यह अजीब स्थिति है यहां के लोगों को दूसरी पत्‍नी से ही संतान सुख प्राप्‍त होता है।

ये भी पढ़ें :-  उनकी नस्ल 'देशभक्ति के सर्टिफ़िकेट' बांट रही है, जिन्होंने अंग्रेजों की गुलामी कर उनके तलवे चाटे हैं!
लाइक करें:-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>