शर्मनाक: गौरक्षा के नाम पर दलितों की बेरहमी से की गई पीटाई, घरों में की गई तोड़फोड़

Jan 19, 2018
शर्मनाक: गौरक्षा के नाम पर दलितों की बेरहमी से की गई पीटाई, घरों में की गई तोड़फोड़

देश में पीछले कुछ समय से हो रही गौरक्षा के नाम पर हिंसा रुकने का नाम ही नहीं ले रही है, गौरक्षा के नाम पर गोरक्षको ने गुंडागर्दी दिखाते हुए कई लोगो के साथ मारपीट की है, जिसमे कई लोगो की जाने भी जा चुकी है। गोरक्षको की गुंडागर्दी के सबसे ज्यादा शिकार मुस्लिम और दलित हुए है।

आपकी जानकारी के लिए बात दे कि गोरक्षा के नाम पर एक और घटना सामने आयी है, और ये घटना तेलंगाना यादरी भुवनगिरी जिले के चिन्नाकंदूकुरू गांव में घटित हुई है। यहाँ गोरक्षको ने रहने वाले दलित समुदाय के लोगो के साथ मारपीट की है और उनके घरों में काफी तोड़फोड़ भी की है। मीडिया से मिली जानकरी के मुताबिक बताया जा रहा है कि 14 जनवरी को करीब 20-30 लोगों के समूह ने दलितों के ऊपर हमला बोल दिया था। वहां पर मैजूद लोगो के अनुसार उन्होंने कहा कि गाँव वाले मकर सक्रांति के दिन त्योहार को मनाने के लिए जमा थे। वहां पर इस दौरान परम्परा के मुताबिक एक गाय का वध भी किया जाना था। बताया जा रहा है कि वहां पर मैजूद लोग जैसे ही परम्परा शुरू करने के लिए तैयार हुए, तभी वैसे ही तकरीबन 30 लोग मोटरसाइकलो पर सवार होकर हाथों में लाठी डंडे लेकर गांव के अंदर घुस आये।

ये भी पढ़ें :-  शिवसेना नेता बोले- 'गुजरात चुनाव ट्रेलर था, राजस्थान उपचुनाव इंटरवल है, पूरी फिल्म 2019 में देखेंगे'

वहां पर मैजूद लोगो ने इस घटना के बारे में बात करते हुए बताया कि उन हमलावरों ने लोगो के ऊपर आलथी डंडो से हमला बोल दिया, और उनके घरों में भी काफी तोड़फोड़ की, और वो हमलावर एक गाय को भी चुरा कर अपने साथ ले गए। बताया जा रहा है कि, उन हमलावरों ने लोगो पर काफी अपशब्द भाषा का प्रयोग भी किया। बता दे कि उन्ही सब पीड़ितों में से एक पीड़ित ने इस घटना के बारे में बताते हुए कहा कि उन हमलावरों ने हमसे कहा कि क्या तुम मुस्लिम हो जो गाय का माँस खाते हो। फ़िलहाल ये मामला 18 जनवरी को सामने आया है, और पुलिस ने उन हमलावरों के खिलाफ मामला दर्ज कर उन सभी दोषियों की तलाश जारी कर दी है।

ये भी पढ़ें :-  कासगंज हिंसा: AMU छात्रों की मांग-'चंदन के परिजनों को मिले 50 लाख रुपये का मुआवजा'

मिली जानकारी के अनुसार दलित बहुजन समाज सेवियों ने हुई इस घटना की निंदा करते हुए गुरूवार के दिन गांव वालों के साथ एकजुटता दिखाकर भूख हड़ताल कर दी है। और जिसके बाद उन्होंने पुलिस आयुक को इस घटना का आवेदन भी सौंपा है, और उन्होंने पुलिस से गांव वालों की सुरक्षा को लेकर गुहार भी लगायी है। बताया जा रहा है कि इसके आलावा उन्होंने सभी हमलावरों के विरुद्ध एससी/एसटी ऐक्ट के उन सभी दोषियों के खिलाफ कार्यवाही करने की माँग भी रखी है। बता दे कि गौरक्षा के नाम पर देश में इस तरह की घटनाए बहुत सामने आ रही है।

ये भी पढ़ें :-  फिल्म 'पद्मावत' देखने गई लड़की के साथ दोस्त ने सिनेमा हॉल में किया रेप, फेसबुक पर हुई थी दोस्‍ती
लाइक करें:-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>