आसान नहीं चॉकलेट-टेस्टर का जॉब

Apr 15, 2016

रोजी-रोटी के लिए चॉकलेट खाना। ऐसा लगता है कि इससे बेहतर काम भला क्या हो सकता है, जिसके पैसे भी मिलते हैं! दरसल सच्चाई क्या है जानिए –

its not as sweet as you think

चॉकलेट टेस्टर का जॉब सुनते ही लोगों के चेहरे खिल उठते हैं। लेकिन ये काम इतना भी स्वादिष्ट नहीं होता है। इसमें डिफेक्टिव चॉकलेट भी टेस्ट करना पड़ती हैं, जिनका टेस्ट कड़वा और जला हुआ होता है। इन लोगों को एक छोटे से कमरे में बंद कर दिया जाता है जहां इन्हें बात करने की भी मनाही रहती है।

सामने एक कम्प्यूटर होता है जहां से ये जानकारी इकठ्ठा करते हैं। कई बार रूम की लाइट्स लाल रंग की भी होती है, जिससे चॉकलेट की सही शक्ल नहीं दिखाई दे। इन्हें केवल टेस्ट के द्वारा ही चॉकलेट परखना होती है, उसकी शक्ल देखना इसमें बाधा बनता है।

they dont eat, they taste

एक दिन में कम से कम 30 चॉकलेट टेस्ट की जा सकती हैं। इसलिए अपने पैलेट को वाइब्रेंट बनाए रखने के लिए इन्हें चॉकलेट मुंह में लेकर वापस निकालना पड़ती है। ये आसान नहीं होता है। सैम्पल के बीच में थोड़ी देर इन्हें अपने सेंसेस को रेस्ट भी देना होता है। इसके लिए ये लोग बीच में आधा बिना नमक का क्रैकर खाते हैं और गुनगुना पानी पीते हैं। ठंडा पानी सेंसेस नम्ब कर देता है।

there is real skill involved

पहले चॉकलेट को स्मेल किया जाता है और इसका एरोमा समझा जाता है। सुनना भी पड़ता है। अगर चॉकलेट काटते हुए साउंड नहीं करती है तो इसका मतलब ये गलत तरह से स्टोर की गई है या पुरानी हो गई है। धीरे से चॉकलेट को मुंह में लेकर इसके टेस्ट को समझने की कोशिश की जाती है-स्वीट, सार, बिटर, सॉल्टी। साथ ही टेक्स्चर को भी महसूस करने की कोशिश करते हैं।

they still eat chocolate just for pleasure

ज्यादा नहीं पर हां कभी कभार इनका भी मन करता है चॉकलेट खाने का, उसे एन्जॉय करने का। फ्रिज में इनके ढ़ेर सारी चॉकलेट रखी रहती हैं, दुनिया भर से आई हुई चॉकलेट्स। इन्‍हें एक पेपर टॉवल में लपेटकर प्लास्टिक बैग के अंदर रखते हैं, जिससे इन्हें लम्बे समय तक फ्रेश रखा जा सके। इनकी फेवरटे चॉकलेट्स ज्यादातर वे होती हैं जिनमें कोको ज्यादा होता है। बहुत से चॉकलेट टेस्टर्स का कहना है कि फ्रिज में रखी चॉकलेट्स खाना इस जॉब के बाद से कम हो गया है।

here is how to taste like a pro

बहुत से लोग छोटे से चॉकलेट के टुकड़े को खाकर तारीफ नहीं करते। चॉकलेट टेस्टर्स बताते हैं कि सबसे खराब चॉकलेट वो हैं जो वेंडिंग मशीन से बार में बदली जाती हैं। इनमें चॉकलेट कम और शुगर ज्यादा होती है। हाय क्वालिटी चॉकलेट में इंग्रेडिएंट में सबसे पहले कोको का नाम आता है।

लेकिन 100 फीसद कोको कि बार भी कोई खाना नहीं चाहता। चॉकलेट टेस्टर्स मानते हैं कि चॉकलेट भूख मिटाने के लिए नहीं खाएं। इसे खाते हुए खुशबू, टेक्स्चर, कलर और फ्लेवर एन्जॉय करें। तभी आप चॉकलेट को पूरी तरह से एन्जॉय कर पाएंगे।

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>