पैसे न होने की वजह से कभी भूखा सोया करता था ये अभिनेता, अब जी रहा है एेसी LUXURY LIFE

May 31, 2017
पैसे न होने की वजह से कभी भूखा सोया करता था ये अभिनेता, अब जी रहा है एेसी LUXURY LIFE

17 जुलाई, 1969 को जौनपुर के छोटे से गांव बिसुईं में जन्मे भोजपुरी के महान एक्टर रवि किशन को भला आज कोण नहीं जानता। आज उनके पास पैसा, शोहरत, नाम सब कुछ है। लेकिन इस एक वक्त था जब इस एक्टर के पास खाना खाने तक के पैसे नहीं होते थे। जिको एक इंटरव्यू में खुदे रवि किशन ने बताया था।

बता दें कि रवि किशन भोजपुरी फिल्मों के साथ-साथ बॉलीवुड की कई फिल्मों में अपने एक्टिंग का जलवा दिखा चुके हैं। एक्टर रवि किशन का पूरा नाम रवि किशन शुक्ला है। और उनकी पत्नी का नाम प्रीति है,और उनके चार बच्चे हैं। तीन बेटियां और एक बेटा है। जिसका नाम सक्षम है।

उन्होंने अपने बारे में एक इंटरव्यू देते हुए बताया था कि वो जब 1990 में गांव छोड़कर मुंबई आ गए थे। तो उस समय उनके पास न खाने के लिए पैसे थे और ना ही सिर छुपाने के लिए कोई ठिकाना, दो वक्त की रोटी के लिए मैं रोज काम ढूंढता था। काम मिल जाता तो पेट भर खाना खाता, नहीं तो भूखे पेट ही रात बितानी पड़ती थी। वो कहते हैं कि हुआ ये “मुझे बचपन से ही एक्टिंग का बहुत शौक था। जब भी मेरे गांव में कोई नाटक होता तो मैं उसमें रोल करता था। और मैं काफी हैंडसम भी दिखता था इसी लिए गांव के लोग मुझे ज्यादातर महिला का रोल देते थे। मुझ पर तो बस एक्टिंग का भूत सवार रहता था। इसलिए महिला बनने से भी पीछे नहीं हटता था।”

रवि के मुताबिक, ‘वो गांव में कभी-कभी रामलीला में सीता का रोल भी करते थे। लेकिन उनके पिता ये पसंद नहीं था कि उनका बेटा पढ़ना-लिखना छोड़ कर नाटक में एक्टिंग करे। और पिता को लगता था कि बेटा नालायक हो गया है। ये अपने जीवन में कुछ नहीं कर पाएगा। सिर्फ और सिर्फ खानदान का नाम ख़राब करे गा। इसकी वजह से कई बार उनके पिता ने उनकी खूब पिटाई की। वो कहते हैं कि एक दिन उनके पिता गुस्से में उनकी पिटाई कर रहे थे। उस समय मां ने मुझे बचाने की बहुत कोशिश की, लेकिन पिताजी मानने को तैयार ही ना थे। उसके बाद उनकी मां ने कहा कि बेटा जान बचाकर यहां से भाग जाओ। और वो अपनी मां की बात मान कर अपने गांव से मुंबई आ गए।

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>