चाय पे चर्चा जन संवाद की अच्छी पहल, राजनीति को मिलेगी नई दिशा….

Sep 17, 2016
चाय पे चर्चा जन संवाद की अच्छी पहल, राजनीति को मिलेगी नई दिशा….

चाय पे चर्चा जनता से सीधा संवाद की ये एक अच्छी शुरुवात है। आज जहां नेता जनता से सीधे संवाद से घबराते हैं, नरेन्द्र मोदी जमीन से जुडे नेता है इसीलिए वे जनता से जुड़ने की नई नई तरकीब सोचते रहते है। मोदी ने जनता से सीधे संवाद स्थापित करके अच्छी पहल की है इससे लोगो में उनके प्रति भरोसा और बड़ेगा, इससे सबसे बड़ा फायदा ये है की आप की सोच आपकी नीति जनता को सीधे पता चलती है। और इससे भी अच्छा यह होगा की दूसरी पार्टियों के नेता भी एक मंच से आपस मे नीतियो पर (साम्प्रदायिकता पर नही) बहस करे जनता के सवालो के जवाब दे तब चुनाव हो जैसा की अमेरिका आदि देशों मे होता है। मणिशंकर ने मोदी को चायवाला बड़ी हिकारत की नजर से बोल था। लेकिन आज चाय वाला एक स्टेटस सिंबल हो गया है। अब तो लालू जी भी पैदाइसी चाय वाले हो गये है। लेकिन अब नीतिश जी क्या बोलेंगे ये देखने वाली बात है। कांग्रेस पार्टी ने 2014 के चुनाव मे भाजपा को एक मुद्दा अपनी तरफ से दे दिया है।

ये भी पढ़ें :-  सियासत में धर्म घुसाकर भारत अब पाकिस्तान बनने की राह पर है : डॉ. परि‍तोष मालवीय

“पहली बार किसी पार्टी के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार ने आम जनता के सवालो का जवाब दिया हो अभी तक तो केवल टीवी पत्रकारों को ही इंटरव्यू दे कर नेता कहते रहे की वो जनता से जुड़े हुए हैं।”
कार्यक्रम मे मोदी जी का मुद्दो पर जवाब सुनकर दिल खुश हो गया लगा की देश मे ऐसा विकास पुरुष प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार है जो समस्याओ का गहराई से अध्ययन करके उनका समाधन कर सकता है। जिसको जमीनी हकीकत का पता है जिसमे गहन चिंतन करने की क्षमता है। 1947 में पटेल के बाद देश को ऐसा नेता मिला है। आज भी कुछ लोग उनसे सिर्फ गुजरात दंगो के पे ही बात करना चाहते है जबकि वो गुजरात को इससे कही आगे निकाल लाये है वहा सभी जाति, धर्मो का विकास हो रहा है और आज तक दुबारा कोई दंगा नही हुआ इसलिये इस विषय को अब पीछे छोड़ देना चाहिये। लेकिन कुछ तथाकतिथ सेक्युलर पार्टी इसको नही छोड़ सकती क्योकि उनकी पूरी राजनीति ही इसके दम पर चल रही है। मीडिया में भी कुछ वरिष्ठ पत्रकार मोदी पर निशाना बनाते रहते है और टीवी चैनल्स की बेहस में हर संभव कोशिश करते रहते है मोदी को नाकारने की और ये समझने की वो प्रधानमंत्री नही बन सकते और सिर्फ एक पार्टी का गुणगान करते रहते है जनता की आवाज को अनसुना करने से सच नही बदलेगा।

ये भी पढ़ें :-  नगर निगम चुनाव के दौरान राजधानी के कई इलाकों से ईवीएम में गड़बड़ी है: केजरीवाल

यह हमारे देश का परम सौभाग्य होगा कि मोदी जैसे व्यक्ति प्रधानमंत्री पद को सुशोभित करेंगे। हमें आशा है देश की जनता ऐसे स्वर्णिम अवसर को हाथ से जाने नही देगी!

Ravi Shankar Yadav

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>