दिग्विजय सिंह ने किया ट्वीट: ‘पूरे देश को ठगने वाला रामदेव फर्जी बाबाओं की लिस्ट में नहीं होने पर मैं दुखी’

Sep 13, 2017
दिग्विजय सिंह ने किया ट्वीट: ‘पूरे देश को ठगने वाला रामदेव फर्जी बाबाओं की लिस्ट में नहीं होने पर मैं दुखी’

पिछले दिनों रविवार को अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद ने देश के 14 फर्जी बाबाओं की सूची जारी की है। और उसके साथ-साथ इन्होंने केंद्र और राज्य की सरकारों को भी यह सूची भेजकर उनसे इन बाबाओं को किसी सरकारी कार्यक्रम में न बुलाने व उन्हें कोई सुविधाएं न देने की अपील की भी है। लेकिन, इस जारी की गई लिस्ट पर कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह ने सवाल उठाकर बाबा रामदेव को घेरे में लिया है।

बता दें कि कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह ने ट्वीट कर अखाड़ा परिषद से ये सवाल पूछा कि, पूरे देश को ठगने वाला, नक़ली को असली बता कर बेचने वाला बाबा रामदेव को इस सूची में नाम न देखकर निराशा हुई। उन्होंने कहा कि, सम्माननीय अखाड़ा परिषद ने इस सूचि में बाबा रामदेव का नाम नहीं रखा मुझे निराशा हुई है। उन्होंने लिखा, “मैं सम्माननीय अखाड़ा परिषद से पूछना चाहता हूं, क्या मनु स्मृति में किसी भगवा वस्त्र पहनने वाले को व्यापार करने की स्वीकृति है?”

ये भी पढ़ें :-  पीएम मोदी ने किया ऐसा काम कि माफ़ नहीं करेंगे देश के हिंदू!

उन्होंने इसके आगे लिखते हुए ट्वीट किया कि “मैं सम्माननीय अखाड़ा परिषद से विनम्र अनुरोध करूंगा कि वे इस सूची में बाबा रामदेव का नाम भी जोडें, और उन्होंने आगे लिखा कि ‘अगर इस सूची में अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद उनका नाम नहीं जोड़ेगी, तो वो मानेंगे कि, वे भी रामदेव के धन से प्रभावित हो गए।’ इस ट्वीट के सामने आने के बाद दिग्विजय सिंह को ट्रोल करते हुए उनको निशाने पर लिया है। इस बारे यूजर्स ने अलग-अलग तरह की प्रतिक्रिया भी दी है।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि कांग्रेसी नेता दिग्विजय सिंह रिट्वीट से हमेशा टिप्पणी करते रहते हैं। अभी हाल में ही उन्होंने पीएम मोदी पर भी अपनी खूब फजीहत कराई थी। लेकिन जब विवाद पैदा हुआ तो उन्होंने कहा कि, वह इसका समर्थन नहीं करते हैं। उन्होंने इसका जवाब देते हुए कहा कि “रिट्वीट का मतलब समर्थन करना नहीं होता।”

ये भी पढ़ें :-  गौरी लंकेश की हत्या पर खुश होने वाले लोग अब रोहिंग्या मुसलमानों की हत्या पर भी खुश हैं: अलका लांबा
लाइक करें:-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>