कड़े प्रतिबंधो के बावजूद उत्तर कोरिया ने मध्यम दूरी की बैलेस्टिक मिसाइल का परीक्षण किया

Mar 18, 2016

संयुक्त राष्ट्र और हाल ही में अमेरिका की तरफ से कड़े प्रतिबंध लगाये जाने के बाद भी उत्तर कोरिया ने एक बार फिर मध्यम दूरी की बैलेस्टिक मिसाइल का परीक्षण किया हैं.

दक्षिण कोरिया की योनहान संवाद समिति ने सेना के हवाले से बताया कि यह मिसाइल संभवत: मध्यम श्रेणी की रोदोंग मिसाइल थी जोकि करीब 800 किलोमीटर दूर तक जाने में सफल रही और फिर समुद्र में गिर गयी. उत्तर कोरिया ने इससे पहले वर्ष 2014 में मध्यम श्रेणी की मिसाइल का परीक्षण किया था जोकि जापान तक पहुंचने में सक्षम थी. पिछले सप्ताह भी उसने दो लघु श्रेणी की मिसाइलों का परीक्षण किया था.

इस परीक्षण के बाद कोरियाई प्रायद्वीप में एक तनाव और बढ गया है. उत्तर कोरिया के परमाणु परीक्षण के बाद के पिछले माह संयुक्त राष्ट्र ने उसके खिलाफ प्रतिबंधों को और कड़ा कर दिया था. इस सप्ताह अमेरिका ने भी उत्तर कोरिया पर नए प्रतिबंध लगाये थे.

अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा ने उत्तर कोरिया के नेतृत्व को और अलग-थलग करने के लिए उसके विरूद्ध नये प्रतिबंध लगाये थे. इन प्रतिबंधों में उत्तर कोरिया की अमेरिका में सम्पत्तियाँ जब्त कर लेना और अमेरिका से उसके यहाँ निर्यात पर रोक लगाना शामिल है.

अमेरिकी सरकार उत्तर कोरिया के परीक्षणों के चलते उसकी कम्पनियों से जुड़े लोगों का नाम भी काली सूची में डालेगी, भले ही वह अमेरिकी नागरिक क्यों न हो.

जापान ने शुक्रवार को उत्तर कोरिया के बैलिस्टिक मिसाइल परीक्षण की निंदा करते हुए इसे भड़काऊ कदम करार दिया. जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे ने संसद में कहा कि इस संबंध में उत्तर कोरिया के सामने विरोध दर्ज किया गया है तथा उसे इस तरह की गतिविधियों से दूर रहने की माँग की गयी है.

 

उन्होंने कहा, जापान ने उत्तर कोरिया से संयम बरतने की माँग की है. हम किसी भी स्थिति से निपटने के लिए चेतावनी एवं निगरानी समेत सभी आवश्यक कदम उठाएँगे.

दक्षिण कोरिया के ज्वाइंट चीफ ऑफ स्टाफ के कार्यालय की तरफ से जारी बयान के मुताबिक इस मिसाइल का परीक्षण राजधानी प्योंगयांग के उत्तर में किया गया जोकि देश के पूर्वी तट के समुद्र में जाकर गिरा.

उन्होंने कहा, ऐसा लग रहा है कि उत्तर कोरिया ने इसी क्षेत्र से एक और मिसाइल का परीक्षण किया है. 17 किलोमीटर की ऊचांई पर जाने के बाद यह मिसाइल रडार से गायब हो गयी.

एक अमेरिकी अधिकारी ने वाशिंगटन में बताया कि इस मध्यम दूरी की मिसाइल को एक रोड मोबाइल लांचर से दागा गया है.

अमेरिका के विदेश विभाग ने एक बयान जारी करके कहा कि वह इस स्थिति पर नजर रखे हुए है, साथ ही उन्होंने उत्तर कोरिया से अंतरराष्ट्रीय प्रतिबद्धताओं और दायित्वों को पूरा करने के लिए ठोस कदम उठाने पर ध्यान केंद्रित करने का आग्रह किया है.

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>