करोड़ों कमाने के बावजूद इस अभिनेता के घर आज भी बनता है मिटटी के चूल्हे पर खाना

Jan 11, 2018
करोड़ों कमाने के बावजूद इस अभिनेता के घर आज भी बनता है मिटटी के चूल्हे पर खाना

बॉलीवुड इंडस्ट्री में ऐसे बहुत से सितारे है जिन्होंने अपनी मेहनत और लग्न के बलबूते पर एक अच्छा मुकाम हासिल किया है। वहीँ ऐसे भी कई दिग्गज सितारे है जो बहुत छोटी सी जगह से आए है, और उन्होंने भी अपने किरदारों से दर्शको में अच्छी छाप छोड़ी है।

 

तो आइये जानते है एक ऐसे दिग्गज अभिनेता के बारें में, जिन्होंने कई सुपरहिट फिल्मों में काम किया है। जिन्होंने फिल्मों से करोड़ो रुपयों की कमाई भी की है, लेकिन उनका आज भी ये हाल है कि उनके घर पर लकड़ी के चूल्हे पर खाना बनता है। ये और कोई नहीं बल्कि आपके चहिते अभिनेता पंकज त्रिपाठी है। जिन्होंने ओमकारा, गुंडे, मंजिल, गैंग ऑफ वासेपुर, फुकरे, मसान, रन, जैसी कई सुपरहिट फिल्मों में अपने अभिनय से दर्शको पर अच्छी छाप छोड़ी है।

ये भी पढ़ें :-  कभी रह चूका है आमिर खान का ये दिग्गज अभिनेता बॉडीगॉर्ड, 'जिसके बारें में जानकर हैरान रह जायेंगे आप'

बता दे कि आपको ये सुनकर हैरानी होगी कि पंकज आज भले ही बॉलीवुड में अच्छा मुकाम हासिल कर चुके है, लेकिन उनका रहन सहन आज भी एक आम इंसान जैसा ही है। बताया जा रहा है कि पंकज त्रिपाठी के घर पर आज भी खाना लकड़ी के चूल्हे पर ही बनता है, आपको उनकी फिल्म ‘निल बटे सन्नाटा’ तो याद ही होगी उसमे उनके किरदार को दर्शको ने खूब पसंद किया था। पंकज त्रिपाठी वैसे तो बिहार के गोपाल गंज के बेलसंड के निवासी है, फिलहाल इनके गांव में इनके माता पिता और रिश्तेदार अभी भी रहते है।

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि पंकज त्रिपाठी एक किसान परिवार से ताल्लुक रखते है, उनके पिता का नाम बनारस त्रिपाठी और माता का नाम हेमंत देवी है। गैंग ऑफ वासेपुर में पंकज ने अपने किरदार को बखूबी निभाया था, अपने किरदारों से उन्होंने अपनी अलग ही पहचान बनायीं है। हलाकि बताया जा रहा है कि उनके गांव में आज भी एक भी पक्की सड़क नहीं है, पंकज भले ही खुद बॉलीवुड की दुनिया में काम करते हो, लेकिन सिनेमा हाल उनके गांव से 20 किलोमीटर की दुरी पर है।

ये भी पढ़ें :-  Flashback: बुरे वक़्त में ऐश्वर्या रॉय सहित इन बॉलीवुड दोस्तों ने भी छोड़ दिया था सलमान खान का साथ
लाइक करें:-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>