नोटबंदी: मैं रोज अपना सिर खपा रहा हूं मगर इस समस्‍या का कोई हल नहीं मिल रहा- चंद्रबाबू नायडू

Dec 21, 2016
नोटबंदी: मैं रोज अपना सिर खपा रहा हूं मगर इस समस्‍या का कोई हल नहीं मिल रहा- चंद्रबाबू नायडू

आन्ध्र प्रदेश के मुख्‍यमंत्री एन. चंद्रबाबू नायडू ने पहले तो नोटबंदी का समर्थन कर इसको क्रांतिकारी और साहसिक क़दम बताया था। लेकिन अब नोटबंदी से पैदा हुई मुश्किलें निपटाने के लिए मैं रोज दो घंटे देता हूं। लेकिन कोई फ़ायदा नहीं हो रहा है। लोग जरूरत की चीजें खरीदने के लिए नई करंसी के लिए जूझ रहे हैं मगर बैंकों और एटीएम के खाली रहने से ऐसा नहीं कर पा रहे। मैं रोज अपना सिर खपा रहा हूं मगर इस समस्‍या का कोई हल नहीं मिल रहा। उन्‍होंने नकदी संकट की तुलना अगस्‍त, 1984 में राज्‍य के राजनैतिक संकट से की, जहां तत्‍कालीन मुख्‍यमंत्री एनटी रामाराव (नायडू के ससुर) के खिलाफ पार्टी के भीतर तख्‍तापलट किया गया था। उन्‍होंने कहा, ”वह संकट भी 30 दिन के भीतर सुलझा लिया गया था, जबकि इस मामले में 40 दिन बाद भी, समस्‍या बनी हुई है।

ये भी पढ़ें :-  भाजपा सरकार में उप्र की कानून व्यवस्था को सुधारने की योग्यता नहीं: कांग्रेस
लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>