नोटबंदी के बाद जनता को एक और झटका, प्रिंटिंग प्रेस कर्मचारियों ने किया ओवरटाइम करने से मना

Dec 28, 2016
नोटबंदी के बाद जनता को एक और झटका, प्रिंटिंग प्रेस कर्मचारियों ने किया ओवरटाइम करने से मना

नोटबंदी से पैदा हुई समस्या को दूर करने के लिए भरसक प्रयास कर रही है मोदी सरकार, लेकिन अभी भी बैंकों और एटीएम के सामने लम्बी लम्बी कतारे देखी जा सकती है। अभी भी एटीएमो के हालात ये है कि एक घण्टे के अंदर पैसा ख़त्म हो जाता है। बहुत से एटीएम का नोटबंदी के बाद से ये हाल है कि अभी तक कैश उनमे डाला ही नहीं गया है। इतना सब्र करने के बावजूद लोगो तक पर्याप्त मात्रा में कैश नहीं पहुँच पा रहा है। ये समस्या क्या कम थी मोदी सरकार के आगे कि एक नयी समस्या खडी हो गयी है। उधर पश्चिम बंगाल की प्रिंटिंग प्रेस कर्मचारियों ने 12 घंटे काम करने से मना कर दिया है। इसका असर नोटों की छपाई पर पड़ेगा। नोटों की किल्लत से झूझ रहे लोगो को और परेशानी का सामना करना पड़ेगा।

मिली जानकारी के अनुसार पश्चिम बंगाल की सालबोनी प्रिंटिंग प्रेस में 12-12 घंटे की दो शिफ्टो में नोटों की छपाई का काम चल रहा है। यहाँ रोजाना 6 करोड़ 80 लाख नोट छप रहे है। अब यहाँ काम करने वाले कर्मचारियों ने ओवरटाइम करने से मना कर दिया है। कर्मचारियों की एसोसिएशन का कहना है कि 14 दिसम्बर के बाद से यहाँ काम कर रहे कर्मचारी बीमार पड़ने लगे है। वो पिछले 50 दिन से 3-3 घंटे ओवरटाइम कर रहे है। वही कर्मचारियों का कहना है कि उन्हें 12 घंटे काम करने के लिए मजबूर किया जा रहा है। अगर ऐसा कर्मचारियों ने कर दिया तो नोटों की समस्या जल्द खत्म होने के आसार और कम हो जायेंगे।

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>