दिल्ली के इंडिया गेट पर एक भव्य समारोह में अपना जश्न मनाया

May 30, 2016

नरेंद्र मोदी सरकार ने सत्ता में दो साल पूरा होने पर शनिवार दिल्ली के इंडिया गेट पर एक भव्य समारोह में अपना जश्न मनाया.

जिसमें मेगास्टार अमिताभ बच्चन समेत कई बॉलीवुड अभिनेताओं ने हिस्सा लिया और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भ्रष्टाचार को उखाड़ फेंकने और सालों से लूट का शिकार बने लोगों का जीवन आसान बनाने का निश्चय प्रकट किया.

कई केंद्रीय मंत्रियों ने इस कार्यक्रम में भाजपा नीत राजग सरकार की उपलब्धियों का बखान किया. यह कार्यक्रम ऐतिहासिक इंडिया गेट पर हुआ.

वित्त मंत्री अरूण जेटली, और उनके कई मंत्रिमंडलीय सहयोगियों ने विभिन्न क्षेत्रों में सरकार द्वारा उठाए गए विभिन्न कदमों के बारे में बताया. कुछ कैबिनेट मंत्री मुम्बई, नागपुर, अहमदाबाद, गुवाहाटी और विजयवाड़ा समेत देश के विभिन्न हिस्सों में सरकार की उपलब्धियां पेश की.

समारोह में कांग्रेस का नाम लिए बगैर मोदी ने विपक्षी दल पर अवरोध खड़ा करने के एजेंडे पर चलने का आरोप लगाया और कोयला ब्लॉक आवंटन समेत संप्रग सरकार के दौरान के घोटालों और स्कैंडलों को याद किया.

प्रधानमंत्री ने कहा कि भ्रष्टाचार की बुराई पर अंकुश लगाना इस सरकार का मुख्य ध्येय रहा है और लोग पिछले शासन से तुलना कर इसे देख सकते हैं.

 

गिनाई दो साल की उपलब्धियां

► हमने किसानों के लिए फसल बीमा योजना लागू की : अरुण जेटली
► हमने बीच में पढ़ाई छोड़ने वाले को दोबारा शिक्षा से जोड़ने के लिए कार्यक्रम शुरू किया : स्मृति ईरानी
► हमने जनधन योजना के तहत लोगों को सुरक्षा का कवच दिया : जयंत सिन्हा
► दिल्ली-कटरा, दिल्ली-जयपुर एक्सप्रेस हाईवे की शुरुआत करेंगे:  नितिन गडकरी
► नरेंद्र मोदी हमारे बीच सबसे युवा हैं : राज्यवर्धन सिंह राठौड़
► ‘बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ अभियान समय की जरूरत है : अमिताभ बच्चन

उन्होंने कहा, ‘‘जबतक हम पिछली सरकार के दिनों के दौरान किए गए कामकाज को याद नहीं करेंगे, हम इस बात अहसास नहीं कर पायेंगे कि कौन सा बड़ा कार्य हुआ है.’’

मोदी ने ‘एक नयी सुबह’ नामक इस समारोह में कहा, ‘‘मैं देश के लोगों के सामने संतोष के भाव के साथ खडा हूं. हम अपने कामकाज की बारीक मूल्यांकन होने के बावजूद लोगों का विश्वास और उत्साह हासिल करने में समर्थ रहे हैं. लोगों का विश्वास दिन-ब-दिन बढ़ता जा रहा है. इससे हमारा भी विश्वास बढ़ता है.’’
उन्होंने कहा, ‘‘एक तरफ, विकासवाद है तो दूसरी तरफ विरोधवाद है.’’

यह समारोह देशभर में दूरदर्शन पर प्रसारित किया गया जिसमें अमिताभ बच्चन ने सरकार के मुख्य कार्यक्र मों में एक ‘बेटी बचाओ बेटी पढाओ’ कार्यक्र म में बारे में बताया. उनकी भागीदारी पनामा कागजातों में उनका नाम आने पर  विपक्षी दलों द्वारा सवाल उठाए जाने के बीच हुई.

समारोह को संबोधित करते हुए वित्त मंत्री अरूण जेटली ने कालेधन रखने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की चेतावनी दी और कहा कि उन लोगों के खिलाफ मुकदमा चलाया जाएगा जिन्हें पनामा कागजातों में सामने आए खातों में अवैध रूप से छिपा रखे हैं.

उन्होंने कहा, ‘‘जिन लोगों के नाम पनामा मामले में सामने आए हैं यदि उनके खाते में अवैध धन पाया जाता है तो उन पर एचएसबीसी खातों के मामलों की तरह ही मुकदमा चलेगा.’’
परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि मोदी सरकार ने शासन की शैली बदल दी और नीतिगत पंगुता खत्म कर दी जो पिछली सरकार के दौरान थी.

उन्होंने कहा कि सरकार ने पारदर्शिता लायी है और लाल फीताशाही खत्म की.

खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण पण्राली मंत्री रामविलास पासवान ने सरकार के विद्युतीकरण कार्यक्र म की प्रशंसा की और कहा कि इससे गरीबों और दलितों को बहुत फायदा हुआ है.
सूचना एवं प्रौद्योगिकी मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि सरकार गरीबों के सशक्तिकरण के लिए उनको प्रौद्योगिकी उपलब्ध कराने का प्रयास कर रही है.

उन्होंने कहा, ‘‘देश बदल रहा है और हमें इसे आगे ले जाना है.’’

प्रसाद ने साथ ही कहा कि ई-कॉमर्स तेजी से प्रगति कर रहा है.

उन्होंने कहा कि डिजिटल इंडिया देश को बदल देगा और लक्ष्य शासन को लोगों की मुट्ठी में लाने का है.

मानव संसाधन विकास मंत्री स्मृति ईरानी ने देश में कौशल शिक्षा प्रदान करने को लेकर सरकार के प्रयासों का जिक्र  किया.

केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री मेनका गांधी ने कहा कि सरकार ने कुपोषण से निपटने के लिए आंगनबाड़ी केंद्रों को सुदृढ़ किया है और बच्चों की सुरक्षा एवं संरक्षा सुनिश्चित करने के लिए कई बाल सुधार पहलें की हैं.

मोदी सरकार की पिछली दो साल की उपलब्धियां गिनाते हुए मेनका ने कहा कि महिला एवं बाल विकास मंत्रालय ने बच्चों को गोद लेने और बच्चों के देखभाल की प्रक्रि याओं में सुधार किया है, जिससे अवैध बाल देखभाल संस्थाओं पर कार्रवाई में मदद मिली है .

बाल टीकाकरण के बारे में स्वास्थ्य मंत्री जे पी नड्डा ने कहा कि सरकार के ‘मिशन इंद्रधनुष’ से यह पिछले दो साल में पांच-छह फीसदी बढ़ा है.

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज बीमार होने की वजह से इस कार्यक्र म में शिरकत नहीं कर सकीं.

ट्विटर पर एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा, ‘‘मैं बीमारी से उबर रही हूं. मैं जल्द ही सरकार के जश्न में शामिल हो जाऊंगी.’’

सुषमा के अलावा, गृह मंत्री राजनाथ सिंह, कानून मंत्री डी वी सदानंद गौड़ा, शहरी विकास मंत्री एम वेंकैया नायडू और नागर विमानन मंत्री अशोक गजपति राजू ने भी कार्यक्र म में हिस्सा नहीं लिया.

अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>