दिल्ली – क्या आप ‘जिगोलो मार्केट’ के बारे में जानते है, नहीं तो पढ़े पूरी खबर

Apr 06, 2016

नयी दिल्‍ली (ब्‍यूरो)। वैसे तो दिल्‍ली में कई मार्केट हैं। लाजपत नगर मार्केट, सरोजनी नगर मार्केट, पालिका मार्केट या कमला नगर मार्केट… लेकिन आपको दिल्‍ली के शायद एक मार्केट के बारे में नहीं पता होगा। ”दिल्‍ली का जिगोलो मार्केट”। ‘जिगोलो’ यानी मेल एस्‍कॉट या फिर कॉल ब्‍वॉयज
जी हां दिल्‍ली में युवा खुलेआम अपने जिस्‍म का सौदा करने लगे हैं। राजधानी की सड़कें जब सुनसान होती हैं तब यहां इनका बाजार सजता है। खास बात ये है कि युवा जिस्‍म की खरीददार उन घरानों या इलाकों की महिलाएं हैं जिन्‍हें आम बोलचाल में संभ्रांत कहा जाता है और इनके इलाकों को पॉश।

डिस्‍को, पब और कॉफी हाउस में भी होता है सौदा जिगोलों को बुक करने का काम हाईफाई क्‍लब, पब और कॉफी हाउस में भी होता है। कुछ घंटों के लिए जिगोलो की बुकिंग 1800 से 3000 हजार रुपए और पूरी रात के लिए 8000 रुपये तक में होती है। इसके अलावा युवाओं के गठीले और सिक्स पैक ऐब्स के हिसाब से 15 हजार रूपए तक कीमत दी जाती है। कॉरपोरेट जगत की तरह होता है काम युवाओं के जिस्‍म के सौदेबाजी का काम बेहद नियोजित तरीके से होता है। यही वजह है कि कमाई का 20 प्रतिशत हिस्सा इन्हें अपनी संस्था को देना होता है, जिनसे ये जुड़े हुए हैं। कारोबार को दिल्ली के कई युवा अपना प्रोफेशन बना चुके हैं तो कई अपनी लक्जरी जरूरतों की पूर्ति के लिए इस दलदल में फंस रहे हैं। इनमें इंजीनियरिंग और मेडिकल की तैयारी करने वाले छात्र सबसे ज्यादा हैं। रात 10 बजे से सजता है बाजार युवा जिस्म का यह बाजार रात 10 बजे से सुबह 4 बजे के बीच सजता है। युवा पॉश इलाकों और साऊथ एक्सटेंसन, आईएनए, अंसल प्लाजा, कनॉट प्लेस, जनकपुरी डिस्ट्रिक सेंटर जैसे प्रमुख बाजारों की मुख्य सड़कों पर खड़े हो जाते हैं। यहां गाड़ी रुकती है, जिगोलो बैठता है और सौदा तय होते ही गाड़ी चल देती है। रुमाल और गले के पट्टे पर होती है डिमांड जिगोलो की डिमांड उसके गले में बंधे पट्टे पर निर्भर करती है। आप सुनकर दंग रह जाएंगे कि गले में बंधा पट्टा जिगोलो के लिंग की लंबाई दर्शाता है।

अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

Jan 19, 2018

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>