महिला ने कहा दलित के हाथ का खाना खाने के बाद, राख खाकर करो पश्चाताप

Aug 13, 2016

यूपी। यूपी के बांदा में सपा सरकार की ‘हौसला पोषण योजना’ की शुरुआत में ही पोल खुलती नजर आ रही है। योजना के तहत गर्भवती महि‍लाओं ने एक स्कूल में बना खाना खाने से इनकार कर दि‍या। खाना खाने आईं महिलाओं ने कहा कि अगर खाना खा लिया तो उनके देवी-देवता नाराज़ हो जाएंगे क्‍योंकि इस खाने को दलित रसोइया ने बनाया है। समाज में दलितों के साथ छुआछूत कितना व्याप्त है इस बात अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि खाना खाने आईं महिलाओं में से एक महिला ने खाना खा लिया था तो उसने राख खाकर इसका पश्चाताप किया।

आपको बता दें कि यूपी सरकार ने गर्भवती महिलाओं के स्वास्थ्य का ख्याल रखने के लिए बुधवार से ‘हौसला पोषण योजना’ शुरू की। योजना के तहत बांदा के नरैनी थाना इलाके के गांव रगौली भटपुरा के सरकारी स्‍कूल के आंगनवाड़ी केंद्र में गर्भवती महिलाओं को खाना खिलाया जाना था। जिसके लिए गांव की गर्भवती महिलाओं को बुलाया गया। लेकिन अन्य जातियों की खाने खाने आईं महिलाओं ने उस समय खाना खाने से इनकार कर दिया जब उनको यह पता चला की यह खाना दलित महिला विमला ने बनाया है। उन्होंने कहा कि दलित का छुआ नहीं खाते हैं।

मामले की जानकारी मिलने के बाद सुपरवाइजर मंजू वर्मा और सेक्टर मजिस्ट्रेट डॉ. वैभव मौके पर पहुंचे और उन्होंने मामले को संभालने की कोशिश करते हुए महिलाओं को समझाने का प्रयास किया, लेकिन वे नहीं मानीं। जिसके बाद उन्हें खाने के लिए फल दिए गए। प्राप्त जानकारी के अनुसार एक महिला कुसुमकली ने दबाव में आकर वहां खाना खा लिया। जिसके बाद महिला के अंदर दलित के हाथ का बना खाना खाने का डर इस कदर बैठ गया कि उसकी हालत तक बिगड़ गई।

बताया गया कि उस महिला को शुद्धि के लि‍ए गांव के ही मंदिर में जाकर मुट्ठी भर भभूत की राख खिलाई गई। हैरत की बात तो यह है कि महिला को राख खिलाने के बाद दावा किया गया कि भभूत खाकर पश्चाताप करने के बाद वह ठीक हो गई। मामले पर एसडीएम नरैनी का कहना है कि मामला छुआछूत का नहीं है। उन्होंने बताया कि किसी तांत्रिक ने महिला को किसी का भी छुआ खाने-पीने से मना किया था, इसलिए उसकी हालत बिगड़ी।

अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

Jan 19, 2018

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>