दालित मुद्दा: एक दूसरे पर दोषारोपण करते रहे पक्ष-विपक्ष

Aug 12, 2016

दलितों पर हो रहे अत्याचार के मुद्दे पर लोकसभा में हुई चर्चा के दौर समस्य के किसी ठोस समाधान पर पहुंचने के बजाए सत्ता पक्ष और विपक्ष आपस में एक दूसरे पर दोषारोपण ही करते नजर आए.

कांग्रेस और अन्य दलों ने जहां आरोप लगाया कि भाजपा के सत्ता में आने के बाद दलितों का लगातार उत्पीड़न हो रहा है वहीं गृहमंत्री राजनाथ सिंह और अन्य मंत्रियों ने इस मुद्दे के लिए कांग्रेस के 55 वर्ष के शासन को ही जिम्मेदार ठहरा दिया.

दलितों के सामाजिक एवं आर्थिक सशक्तिकरण पर जोर देते हुए गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने बृहस्पतिवार को कहा कि यह भ्रम फैलाने का प्रयास किया जा रहा है कि भाजपा सरकार के दौरान दलितों पर उत्पीड़न बढ़े हैं जबकि 55 वर्ष तक देश पर कांग्रेस का शासन रहा और उस दौरान दलितों के सामाजिक एवं आर्थिक विकास की चिंता की गई होती तब आज ऐसी घटनाएं नहीं होती. मंत्री ने कहा कि गौरक्षा या किसी अन्य विषय के नाम पर दलितों या किसी का भी उत्पीड़न करने वालों के खिलाफ कठोर से कठोर कार्रवाई की जाएगी और वह राज्य सरकारों से भी इस बारे में आग्रह करते हैं.

 

नियम 193 के दौरान चर्चा का जवाब देते हुए गृह मंत्री ने कहा कि आजादी के 70 वर्ष गुजर गए और इसके बाद भी हमें दलितों के उत्पीड़न पर चर्चा करना मन में टीस और पीड़ा उत्पन्न करता है. वह भी ऐसे देश में जहां बसुवैध कुटुम्बकम का दर्शन हो, वहां आर्थिक एवं सामाजिक रूप से पीछे रह गए लोगों का उत्पीड़न अत्यंत पीड़ादायक है. उन्होंने कहा कि दलितों का उत्पीड़न एक विकृत मानसिकता का परिचायक है और हमें इस विकृत मानसिकता को खत्म करना है. देश के विकास के लिए जातिवाद एवं सम्प्रदायवाद को खत्म करने की जरूरत है.

राजनाथ सिंह ने कहा कि यूपी, गुजरात, बिहार, कर्नाटक, आंध्र प्रदेश कई अनेक राज्यों में दलितों के उत्पीड़न की घटनाएं सामने आई हैं. वह इनसे किसी राजनीतिक दल को नहीं जोड़ना चाहते हैं. ‘लेकिन अब यह भ्रम पैदा किया जा रहा है कि भाजपा सरकार के आने पर दलितों के उत्पीड़न के मामले बढ़े हैं.

मोदी राज में दलित उत्पीड़न बढ़ा : कांग्रेस

कांग्रेस ने सरकार पर आरोप लगाया है कि वो दलित उत्पीड़न पर उदासीन बनी हुई है. पार्टी का ये भी कहना है कि पिछले ढाई वर्ष में देश में असहिष्णुता का वातावरण बना है,  जिसकी वजह से असुरक्षा का वातावरण भी हर देशवासी के जहन में उतर चुका है.

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि दलितों के उत्पीड़न की घटनाओं में 19% की  वृद्धि हुई है.

उन्होंने कहा कि हर 18 मिनट में एक दलित के विरुद्ध अपराध किया जाता है, हर रोज 3 दलित महिलाओं के साथ बलात्कार किया जाता है और हर रोज 2 दलितों की हत्या होती है.

कांग्रेस नेता ने कहा कि घटना एक नहीं अनेक हुई हैं और इसमें भी कोई दो बात नहीं कि उत्तर से दक्षिण और पूर्व से पश्चिम पूरे देश में ये घटनाएं फैली हुई हैं.

उन्होंने कहा कि यह चिंता की बात है, क्योंकि 20 करोड़ दलित भाई-बहनों की सरकार परवाह नहीं कर रही है.

अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>