आत्महत्या को मजबूर हो गए दलित परिवार, जाटों ने हथिया रखी है उनकी जमीन

Sep 29, 2016
आत्महत्या को मजबूर हो गए दलित परिवार, जाटों ने हथिया रखी है उनकी जमीन

यूपी के बागपत जिले में बामनोली गऊ गांव में करीब 650 दलित परिवार रहते है। लेकिन आज उनके पास कुछ नहीं बचा है जो कुछ भी था उन पर जाटो का कब्ज़ा है। सरकार द्वारा 1976 में उन परिवारों को प्रति परिवार 3 बीघा जमीन दी गई थी। इसके अलावा कुछ परिवारों को नसबंदी स्कीम के तहत 300 बीघा जमीन में से प्रति परिवार 5-5 बीघा जमीन दी गई थी। लेकिन एक वर्ष बाद ही दबंगों ने चकबन्दी विभाग के अफसरों से मिलकर वो जमीन कब्जा कर ली।

अब उनके पास खानों को कुछ नहीं बचा। दलित परिवारों का कहना है “बेहतर जमीन की आड़ में चकबन्दी विभाग ने उनसे पुरानी जमीन भी छीन ली। चकबन्दी विभाग ने उन्हें पुरानी जमीने के बदले बेहतर जमीन देने का वादा किया था। परिवार का गुज़ारा और कैसे कर पाएंगे।

ये भी पढ़ें :-  मौलाना जरजिस को बलात्कार के आरोप में हुई जेल

दलित परिवारों को कोई इंसाफ नहीं मिला। इसके अलावा आए दिन दबंग लोग दलित परिवारों के लोगों को घर में घुसकर मारते पीटते हैं जिससे तंग आकर दलित आत्महत्या करने की कोशिश कर रहे हैं उन्होंने कहा कि अगर 5 अक्टूबर तक हमें न्याय नही मिला तो हम परिवार सहित आत्महत्या कर लेंगे।

अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>
error: 24hindinews.com\'s content is copyright protected
error: 24hindinews.com\'s content is copyright protected