बड़ी बेदर्दी से दलित बच्चों को नंगा कर पीटा:आप भी जरूर पढ़े खबर

Apr 06, 2016

भाजपा शासित राजस्थान प्रदेश में दलितों पर लगातार दमन की प्रक्रिया जारी है। रोजाना एक के बाद एक दलितों पर अत्याचार के मामले सामने आ रहे हैं। जिस पर समाज खामोश है। इनकों अंजाम सरेआम औऱ खुलेआम दिया जा रहा है। बीते 29 मार्च को राजस्थान बाड़मेर के नोखा कस्बे में दलित होनहार बेटी डेल्टा मेघवाल मृत पाई गई। जिसका अभी तक मामला पूरी तरह शांत नहीं हो पाया था कि तभी कल चित्तौड़गढ़ में तीन दलित लड़कों को सरेआम नंगा करके खुली सड़क पर पीटा गया। इऩ तीन लड़कों को पीटने में इतनी निर्दयता और क्रूरता दिखाई जाती है। जिसे देखने वालों की रूह कांप जाती है।

इऩ दलितों पर सिर्फ इतना आरोप था कि इन्होंने चोरी की है। ऐसे कई मामले समय-समय पर सामने आते रहते है कि दलितों पर चोरी का आरोप हो औऱ जनता इन्हें सजा दे रही हो। इऩके लिए शायद कानून नाम की चीज बनी ही नहीं है। थाना-पुलिस औऱ कोर्ट-कचहरी इनके साथ न्याय नहीं करते है तभी क्रूर भीड़ में से किसी को इऩ्हें मारने की सजा नहीं दी जाती। इतना वीभत्स और डरावना माहौल की भीड़ की शक्ल में इकठ्ठे हुए लोग उसे चोरी की सजा नहीं बल्कि उसके अलग समाज में पैदा होने की सजा दे रहें है। समाज में उसका पहनावा,उसकी अलग पहचान भीड़ को बता देती है कि यह दलित समाज से है इसलिए जुल्म की इंतहा कर दो इसके साथ। उसे उसके आऱोप की सजा कानूनी नहीं बल्कि ऑन द सपॉट मिलना शुरू हो जाती है। यही हुआ कल चितौड़गढ़ में यही होता आया है अभी तक दलित समाज के लोगों के साथ।

इस न्यूज़ को शेयर भी करे और पसंदीदा खबर के लिए पेज भी लिखे करे

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>