गणतंत्र दिवस पर 3 बम धमाकों से दहला असम, दीमा हसाओ के माइबोंग में कर्फ्यू

Jan 27, 2018
गणतंत्र दिवस पर 3 बम धमाकों से दहला असम, दीमा हसाओ के माइबोंग में कर्फ्यू

एक तरफ तो देशभर में 69वां गणतंत्र दिवस पूरे जोशो खरोश और देशभक्ति की भावना के साथ मनाया गया लेकिन दूसरी तरफ असम में बम फटे जा रहे थे। जिससे पूरा असम दहल रहा था। इतना ही नहीं बल्कि बंद के आह्वान के दौरान पुलिस की गोलीबारी में घायल हुए दो लोगों की मौत हो जाने के बाद दीमा हसाओ के माइबोंग में अनिश्चितकालीन कर्फ्यू लगाना पड़ा।

बता दें कि असम के तिनसुकिया जिले में गणतंत्र दिवस के मौके पर शुक्रवार को कम तीव्रता वाले तीन बम धमाके हुए। मिली जानकारी के मुताबिक बंद के दौरान पुलिस की गोलीबारी में घायल हुए दो लोगों की मौत हो जाने के बाद दीमा हसाओ के माइबोंग में अनिश्चितकालीन कर्फ्यू लगाना पड़ा। इस बारे में पुलिस ने बताया कि उसने लखीमपुर जिले में गुरुवार रात तलाशी अभियान के दौरान एक आईईडी और दो जिलेटिन की छड़ें बरामद कीं। तीन विस्फोटों को तिनसुकिया जिले में दो अलग-अलग स्थानों पर उल्फा (आई) के संदिग्ध उग्रवादियों ने अंजाम दिया। आगे पुलिस ने बताया कि विस्फोटों में किसी के भी हताहत होने की खबर नहीं है। और दो विस्फोट चंद मिनट के अंतराल पर जागुन थाने के निकट एक नाले में हुए और तीसरा धमाका लीडो थाने के निकट तिरप कोलियरी में हुआ।

ये भी पढ़ें :-  शिवसेना नेता बोले- 'गुजरात चुनाव ट्रेलर था, राजस्थान उपचुनाव इंटरवल है, पूरी फिल्म 2019 में देखेंगे'

इस बारे में पुलिस महानिदेशक मुकेश सहाय ने गुवाहाटी में संवाददाताओं से कहा कि विस्फोट कम तीव्रता के थे और इसे उल्फा (आई) ने अपने अस्तित्व को दिखाने के लिये अंजाम दिया। पुलिस ने बताया कि जांच चल रही है और जिले में सुरक्षा के उपाय और कड़े कर दिये गए हैं। दूसरी तरफ दीमा हसाओ के माइबोंग इलाके में गुरुवार को अनिश्चितकालीन कर्फ्यू लगा दिया गया। ऐसा बंद के दौरान ट्रेन पर हमला करने वाली उग्र भीड़ और पुलिस के बीच संघर्ष के बाद करना पड़ा। पुलिस की गोलीबारी में घायल हुए दो लोगों की शुक्रवार को मौत हो गई। सरकार के एक वरिष्ठ अधिकारी ने पीटीआई-भाषा से कहा, ‘एक व्यक्ति की जहां गुवाहाटी में अस्पताल ले जाने के दौरान मृत्यु हो गई, वहीं दूसरे की आज सुबह अस्पताल में मृत्यु हो गई। उग्र भीड़ ने कल माइबोंग रेलवे स्टेशन पर हमला किया था और 12 घंटे के दीमा हसाओ बंद के दौरान यात्रियों को ट्रेन से उतार दिया था।

ये भी पढ़ें :-  दो बहनों को घर के अंदर जलाकर की गई हत्या, 18 फरवरी को होने वाली है भाई की शादी

सूत्रों के बताने के मुताबिक हालात पर नियंत्रण करने के लिये पुलिस ने हवा में गोली चलाई जिसमें 10 लोग घायल हुए। दीमा हसाओ को ग्रेटर नगालिम में शामिल करने के लिये विभिन्न संगठनों ने बंद का आह्वान किया था।

लाइक करें:-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>