उप्र में अपराध पर अंकुश लगाया जाएगा : योगी आदित्यनाथ

May 20, 2017
उप्र में अपराध पर अंकुश लगाया जाएगा : योगी आदित्यनाथ

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को 17वीं विधानसभा के पहले सत्र के चौथे तथा अंतिम दिन प्रदेश की कानून-व्यवस्था पर कहा कि राज्य में अपराध की घटनाओं पर अंकुश लगाया जाएगा। प्रदेश में अपराधियों को संरक्षण देने वाले की कोई जगह नहीं है। मुख्यमंत्री ने विधानभवन में सदन की कार्यवाही के दौरान सीटी बजाने के साथ ही राज्यपाल पर कागज के गोले फेंकने की घटना की निंदा की। मुख्यमंत्री ने शुक्रवार को सदन में खराब कानून-व्यवस्था पर अपना जवाब दिया।

मुख्यमंत्री ने कहा, “उत्तर प्रदेश में किसी भी बेगुनाह, किसान या व्यापारी के साथ अन्याय बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। अपराधियों को अपने भविष्य के बारे में खुद सोचना होगा। अपराधियों से पूरी निर्ममता से निपटा जाएगा। उत्तर प्रदेश में अपराधियों के लिए कोई जगह नहीं है।”

विधानसभा में राज्यपाल राम नाईक के अभिभाषण के दौरान कागज के गोले फेंके जाने के साथ ही विपक्ष के आरोपों और हंगामों पर मुख्यमंत्री योगी ने सदन में पलटवार किया। मुख्यमंत्री ने कागज के गोले फेंके जाने की कड़ी आलोचना की।

मुख्यमंत्री ने कहा, “राज्यपाल का अभिभाषण प्रदेश की सरकार का विजन डॉक्यूमेंट होता है। यह अलग बात है कि विपक्ष ने इसमें रुचि नहीं ली। स्वस्थ लोकतंत्र वहीं जहां सहमति व असहमति में समन्वय हो।”

सीटी बजाने की घटना पर उन्होंने कहा कि सीटी दो ही लोग बजाते हैं। एक तो ट्रैफिक पुलिस और दूसरे वो जिनके लिए एंटी रोमियो दल बना है। उन्होंने कहा कि इसका संज्ञान सदन ने भी लिया है।

योगी ने साथ ही कहा कि चार दिन में कई सुझाव मिले हैं। सरकार की कोशिश अच्छे सुझावों को अमल में लाने की होगी। उन्होंने कहा, “फसली ऋण माफ करने का फैसला सरकार ने किया। तीन हजार करोड़ रुपये का भुगतान भी किया जा चुका है। सूबे की धरती उर्वरा से भरी है। सरकार ने सबसे पहले फैसला किसानों के हित में फैसला किया।”

उन्होंने कहा, “प्रदेश में अपराधियों को संरक्षण नहीं मिल रहा है। जनता का उत्पीड़न करने वालों को अपने भविष्य के बारे में सोचना होगा। भाजपा सरकार का दो महीने का कार्यकाल बसपा-सपा के कार्यकाल पर भारी रहा है। टैक्स से नहीं, खर्च को सीमित कर जरूरी धन जुटाएंगे।”

लाइक करें:-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>