बीजेपी मंत्री का विवादित बयान: ताज को अजूबों में शामिल करने वाले भी शाहजहां के मिजाज के रहे होंगे

Oct 10, 2017
बीजेपी मंत्री का विवादित बयान: ताज को अजूबों में शामिल करने वाले भी शाहजहां के मिजाज के रहे होंगे

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार द्वारा राज्य की पर्यटन स्थल की सूची से ताजमहल को बाहर किए जाने के बाद अब उनके ही सरकार के कैबिनेट मंत्री लक्ष्मी नारायण चौधरी ने ताजमहल पर बयान देकर एक नया विवाद खड़ा कर दिया है। उन्होंने अपने विवादित बयान में कहा कि उस वक्त ताजमहल को सात अजूबों में शामिल करने वाले भी उसी मिजाज के रहे होंगे, जिस मिजाज का बादशाह शाहजहां था।

बता दें कि योगी सरकार के कैबिनेट मंत्री लक्ष्मी नारायण चौधरी ने कहा कि ताजमहल को पर्यटन स्थल से बाहर करके गुरु गोरखनाथ पीठ को इसमें शामिल किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि ताजमहल को एक राजा ने मोहब्बत में बनवाया था, इसके अलावा और क्या है उसमें?… ताजमहल किसी धर्म का प्रतीक नहीं है और न ही ताजमहल कभी धार्मिक कहा जा सकता है। जो भी ताजमहल को देखने जाता है वह उसकी खूबसूरती देखने जाता है।

लक्ष्मी नारायण चौधरी अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद द्वारा आयोजित मेधावी छात्र-छात्राओं को सम्मानित करने के कार्यक्रम में आए हुए थे जहाँ उन्होंने कार्यक्रम के बाद पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा, “ताजमहल को सात अजूबों में शामिल करने वाले भी बादशाह शाहजहां के ही मिजाज के रहे होंगे।” उन्होंने ताजमहल को पर्यटन स्थल से बाहर करते हुए गुरु गोरखनाथ पीठ को इसमे शामिल करने की बात कही।

इतना ही नहीं बल्कि उन्होंने आगरा को ताजनगरी कहे जाने पर भी एतराज करते हुए कहा कि जो लोग ऐसा कहते है वह पश्चिमी सभ्यता से प्रभावित होंगे।यहाँ तो देश और प्रदेश में चल रही सरकार राष्ट्रवादी और धर्म के अनुसार चलने वाली सरकार है। आगे उन्होंने कहा कि यह सरकार धर्मनीति के आधार पर चलने वाली सरकार है।

लाइक करें:-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>