कांग्रेस ने लोकतंत्र बचाया, इसीलिए मोदी प्रधानमंत्री बन सके : खड़गे

Feb 06, 2017
कांग्रेस ने लोकतंत्र बचाया, इसीलिए मोदी प्रधानमंत्री बन सके : खड़गे

लोकसभा में कांग्रेस के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने सोमवार को कहा कि देश में लोकतंत्र को बचाए रखने के लिए कांग्रेस का शुक्रिया अदा किया जाना चाहिए, जिसकी बदौलत गरीब परिवार से आने वाले नरेंद्र मोदी देश के प्रधानमंत्री बन पाए। राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा में हिस्सा लेते हुए कांग्रेस नेता ने कहा कि कांग्रेस ने 70 सालों तक लोकतंत्र को बचाए रखा। उन्होंने सत्तारूढ़ पार्टी के इस बयान की आलोचना की, जिसमें उसने बार-बार कहा है कि कांग्रेस ने वर्षो तक सत्ता में रहने के बाद भी कुछ नहीं किया।

खड़गे के लगभग एक घंटा 40 मिनट लंबे भाषण के दौरान सरकार पर हमले को लेकर सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के सदस्यों की कांग्रेस के सदस्यों के साथ कई बार नोकझोंक हुई।

भाषण लंबा होने के कारण लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन को बार-बार उन्हें भाषण खत्म करने को कहना पड़ा। यहां तक कि सत्ताधारी पक्ष के एक सदस्य ने एक नियम का हवाला देते हुए अध्यक्ष से आग्रह किया कि वह भाषण बंद कराएं।

खड़गे ने नोटबंदी को लेकर भी सरकार को आड़े हाथ लेते हुए कहा कि प्रधानमंत्री को नोटबंदी के कारण हुई मौतों के लिए माफी मांगनी चाहिए।

नोटबंदी की चर्चा करते हुए कांग्रेस नेता ने कहा, “कई लोगों की मौत हो गई। कम से कम प्रधानमंत्री को लोगों से माफी मांगनी चाहिए थी। आप अब भी माफी मांग सकते हैं।”

खड़गे ने कहा कि सरकार को देश को बताना चाहिए कि नोटबंदी के बाद कितना काला धन वापस आया। उन्होंने कहा, “प्रधानमंत्री जानते थे कि चुनाव आ रहे हैं, वह चाहते थे कि लोग 15 लाख रुपये के वादे को भूल जाएं।”

उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि लोगों को नोटबंदी से संबंधित चुनी हुई जानकारियां दी गईं।

केंद्रीय वित्तमंत्री के इस बयान पर कि नोटबंदी के खिलाफ कहीं भी एक भी दंगा या प्रदर्शन नहीं हुआ, खड़गे ने कहा, “क्या आप चाहते थे कि दंगा या प्रदर्शन हो? अगर आंदोलन नहीं हुआ तो इसका मतलब यह नहीं हुआ कि आपके कदम का समर्थन किया गया। इस देश के लोग बेहद संयम रखने वाले हैं। हमपर 1,000 वर्षो तक बाहरियों ने शासन किया।”

जैसे ही सत्तापक्ष के एक सदस्य ने चुटकी ली कि खड़गे पर अभी भी बाहरी व्यक्ति शासन कर रहा है, उन्होंने कहा, “मैं एक दास हूं। आप अंग्रेजों के दास थे, मैं आपका दास हूं।”

खड़गे ने कटाक्ष करते हुए कहा, “मुझे लगता है कि हरित क्रांति आपने लाई। और गुजरात में श्वेत क्रांति आपके कार्यकाल में आया। (वर्गीस) कुरियन का जन्म भी इन्हीं दिनों हुआ। सबकुछ इन्हीं दो-ढाई वर्षो के दौरान हुआ।”

उन्होंने कहा, “हमने लोगों का पेट भरने के लिए हरित क्रांति लाई। हमने श्वेत क्रांति लाई। आप पूछते हैं कि 70 वर्षो में क्या हुआ? अगर कुछ नहीं किया जाता, तो आप जिंदा नहीं होते, न तो लोकतंत्र होता और न ही संविधान सुरक्षित होता।”

खड़गे ने कहा, “हमने संविधान की सुरक्षा की। अगर मोदी गरीब परिवार से आते हैं और प्रधानमंत्री बन जाते हैं, तो इसका श्रेय कांग्रेस को जाता है, जिसने लोकतंत्र को जीवित रखा।”

खड़गे की टिप्पणी के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लोकसभा में मौजूद थे।

जैसे ही सत्तापक्ष ने आपातकाल की ओर इशारा किया, कांग्रेस नेता ने कहा, “उस वक्त घोषित आपातकाल था, आज की तारीख में अघोषित आपातकाल है।”

उन्होंने कहा, “सनातन धर्म के नाम पर आप लोगों को बांटना चाहते हैं।”

बीते साल 29 सितंबर को सीमा पार जाकर किए गए सर्जिकल स्ट्राइक के राजनीतिकरण को लेकर सरकार के आरोप पर कांग्रेस नेता ने कहा कि उन्होंने सेना पर नहीं, बल्कि सरकार पर सवाल उठाए थे।

उन्होंने कहा, “सर्जिकल स्ट्राइक पहली बार नहीं हुआ। जबतक हमारे दुश्मन वहां हैं, यह होता रहेगा। देशभक्ति केवल आप तक ही सीमित नहीं है। पूरा देश सेना के साथ है। हम आपसे सवाल कर रहे हैं।”

भाषण के दौरान सत्तापक्ष तथा विपक्ष के बीच कई बार तीखी नोकझोंक हुई।

खड़गे ने कहा कि महात्मा गांधी तथा पूर्व प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू, इंदिरा गांधी ने देश के लिए अपने प्राणों की आहूति दी।

खड़गे ने कहा कि वर्तमान सत्ताधारी पार्टी से किसी ने भी देश के लिए अपने प्राणों की आहूति नहीं दी और उन्होंने ‘असंसदीय’ भाषा का इस्तेमाल किया।

जैसे ही सत्ताधारी पक्ष का विरोध बढ़ा, खड़गे ने कहा, “यह इतिहास है। यह असंसदीय नहीं है।”

महाजन ने खड़गे को निर्देश दिया कि वह असंसदीय शब्दों का इस्तेमाल न करें और उन्होंने कहा, “आप इस तरह से कोई बात नहीं कह सकते। देश के लिए कई लोगों ने अपने प्राणों की आहूति दी है।”

नाराज भाजपा के अनंत कुमार ने कहा कि श्यामा प्रसाद मुखर्जी और दीनदयाल उपाध्याय जैसे जनसंघ के नेताओं ने भी देश के लिए कुर्बानी दी थी। उन्होंने खड़गे से मांग की कि वह माफी मांगे।

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>