कांग्रेस बीजेपी के जश्न के रंग में भंग डालने को तैयार

May 26, 2016

नई दिल्ली– केंद्र की एनडीए सरकार दो साल पूरे कर रही है और इस मौके पर बीजेपी जश्न मना रही है। दो साल की उपलब्धियों को जनता तक पहुंचाने के लिए खाका खींच दिया गया है। ऐसे में विपक्ष ने उसे कड़ी टक्कर देने का फैसला किया है। जहां भाजपा ने पूरे देश में इस दिन प्रोग्राम्स करने की योजना है, वहीं कांग्रेस की भी कुछ ऐसी ही तैयारी है। भाजपा सरकार ‘ जरा मुस्करा दो’ कार्यक्रम का आयोजन करने जा रही है। कांग्रेस पहले से ही ‘दो साल, बुरा हाल’ के जरिए केंद्र सरकार पर निशाना साध रही है।

कांग्रेस ने दो साल की पोल खोलने के लिए जो कैंपेन शुरू करने का एलान किया है। उसका नाम दिया है मोदी सरकार के दो साल, देश का बुरा हाल। दरअसल बीजेपी ने 26 मई से 2 जून तक दो साल की उपलब्धियों को जनता तक पहुंचाने की पूरी रणनीति तैयार की है। भोपाल में केंद्रीय मंत्री वीरेंद्र सिंह के साथ सांसद अनुराग ठाकुर और उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री रमेश पोखरियाल आएंगे। इंदौर में वित्त मंत्री अरुण जेटली पहुंचेंगे तो इसी तरह प्रदेश के सभी जिलों में केंद्रीय मंत्री और पार्टी के बड़े नेता पहुंचेंगे और उपलब्धियों का बखान करेंगे।

बीजेपी की इस रणनीति को नाकाम करने के लिए कांग्रेस ने भी जनता के ही बीच जाने का फैसला किया है। कांग्रेस अपने कैंपेन के जरिए लोगों तक केंद्र सरकार की नाकामियां लेकर जाएगी।

यानी देश के सामने दो तस्वीरें होंगी एक तरफ मोदी सरकार की उपलब्धियों की तो दूसरी तरफ नाकामियों की। ये तो तय है कि जब कांग्रेस नेता नाकामियों को लेकर सरकार पर हमला करेंगे तो सियासी बवाल जरूर खड़ा होगा। जनता के लिए सरकार के आंकलन का इससे बेहतर मौका नहीं होगा।

अब कांग्रेस की योजना है कि वह एक बुकलेट प्रकाशित करेगी, जिसमें सरकार की नाकामियों पर प्रकाश डाला जाएगा। इसके साथ ही इसमें यह भी बताया जाएगा कि सरकार किस तरह से अपने वादे पूरे करने में असफल रही। इसमें व्यापमं घोटाले और ललित मोदी घोटाले का जिक्र होगा। साथ ही पार्टी ने अपने बड़े नेताओं को टियर-1 और टियर-2 शहरों में प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करने के लिए भेजेगी। इन प्रेस कॉन्फ्रेंस में सरकार पर निशाना साधा जाएगा।

अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>