कांग्रेस ने केरल के शिक्षा मंत्री का इस्तीफा मांगा

Mar 29, 2017
कांग्रेस ने केरल के शिक्षा मंत्री का इस्तीफा मांगा

केरल में कांग्रेस के नेतृत्व वाले विपक्ष ने 10वीं, 11वीं तथा 12वीं की परीक्षा में गंभीर लापरवाही सामने आने के बाद राज्य के शिक्षा मंत्री सी.रवींद्रनाथ से इस्तीफे की मांग की है। संवाददाताओं से मंगलवार को यहां बातचीत में विपक्ष के नेता रमेश चेन्निथला ने कहा कि राज्य के इतिहास में इन कक्षाओं की परीक्षाओं में कभी इस तरह की लापरवाही सामने नहीं आई है।

चेन्निथला ने कहा, “मंत्री को इस्तीफा देना चाहिए और राज्य सरकार को एक न्यायिक जांच का आदेश देना चाहिए। परीक्षा में लापरवाही सामने आने के बाद 10वीं कक्षा की परीक्षा रद्द होने के बाद फिर से कराई जा रही है। केवल यही नहीं, 11वीं कक्षा के भूगोल के प्रश्नपत्र में 50 फीसदी सिलेबस ही कवर किया गया है, जबकि 12वीं कक्षा के प्रश्न पत्र में नौ गलतियां सामने आई हैं।”

उन्होंने कहा, “अब मुझे यह भी बताया गया है कि 12वीं कक्षा के पत्रकारिता के प्रश्नपत्र में कई सवाल सिलेबस से बाहर से आए, जबकि 11वीं कक्षा के मलयालय के प्रश्नपत्र में एक पैरा अंग्रेजी में लिखा हुआ था।”

कांग्रेस ने कहा कि पिछले कई सालों से प्रश्नपत्रों को तैयार करने का काम स्टेट काउंसिल एजुकेशन रिसर्च एंड ट्रेनिंग (एससीईआरटी) को दिया जाता रहा है, जबकि इस साल इस काम को केरल स्कूल टीचर्स एसोसिएशन (केएसटीए) ने ‘हाईजैक’ कर लिया, जो मार्क्‍सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) से जुड़ा है।

उन्होंने कहा, “यह भी प्रकाश में आया है कि केएसटीए के कई सदस्य निजी ट्यूशन सेंटर चलाते हैं और ऐसे लोगों को प्रश्नपत्रों को तैयार करने का जिम्मा सौंपा गया।”

चेन्निथला ने कहा, “ऐसा लगता है कि मंत्री को इस बात की कोई जानकारी ही नहीं है कि हो क्या रहा है। हम कोई कानूनी उपाय नहीं करने जा रहे क्योंकि इससे 10 लाख से अधिक छात्रों का भविष्य अधर में चला जाएगा। मुझे कई छात्रों की कॉल आई हैं।”

माकपा के राज्य सचिव कोदियेरी बालकृष्णन ने स्वीकार किया कि परीक्षाओं में गड़बड़ियां पाई गई हैं।

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>