CM आवास के बाहर फरियादी महिला को पुलिस ने जमकर पीटा, मिट्टी तेल उड़ेलकर आत्मदाह की कोशिश

Sep 09, 2016
CM आवास के बाहर फरियादी महिला को पुलिस ने जमकर पीटा, मिट्टी तेल उड़ेलकर आत्मदाह की कोशिश

यूपी में महिलाओं पर हो रह अत्याचार किसी से नहीं छुपे है। फिर चाहे वह दबंगों द्वारा हो या खुद सुरक्षा का वास्ता देने वाली यूपी पुलिस। बुधवार सुबह जब मुख्यमंत्री अखिलेश यादव जब अफसरों की बैठक में जनता के साथ अच्छे व्यवहार की नसीहत दे रहे थे, तभी सीएम आवास के सामने मुरादाबाद से आई महिला फरियादी पुलिस के हाथों पिट रही थी।

आपको बता दें कि महिला अपनी तीन बेटियों संग सीएम से मिलने आई थी। सुरक्षा कर्मियों ने मिलवाने में असमर्थता जताई तो उसने मिट्टी तेल उड़ेलकर आत्मदाह की कोशिश की। इससे वहां हड़कंप मच गया। मौके पर मौजूद महिला पुलिसकर्मियों ने फरियादी महिला को जमकर पीटा। सूचना पाकर पहुंची पुलिस मां-बेटियों को गौतमपल्ली थाने ले आई।

ये भी पढ़ें :-  पुलिस कॉम्पलेक्स में मिली लड़की की लाश, मां ने सिपाही पर लगाया मर्डर का आरोप

मुरादाबाद के गांव कूरो निवासी बबिता बाल्मीकि की पांच बीघा जमीन पर ग्राम प्रधान ललित व उसके साथियों ने पांच साल पहले कब्जा कर लिया था। जिस पर विरोध करने पर महिला व उसकी बेटियों को रसूखदारों ने कई बार पीटा। बबिता ने थाने से लेकर डीएम तक शिकायत की मगर उसकी कोई सुनवाई नहीं हुई।

पीड़ित महिला ने बताया कि वह सीएम से मिलने कई बार लखनऊ आ चुकी है लेकिन गेट पर मौजूद अफसर उसे कार्रवाई का आश्वासन देकर लौटा देते हैं। बुधवार सुबह बबिता अपनी तीन बेटियों आकांक्षा, सोनी, प्रीति संग सीएम आवास पर झोले में केरोसिन का डिब्बा लेकर पहुंच गई। जब उसने सीएम से मिलने की इच्छा जताई तो सुरक्षा गार्डों ने मना कर दिया।

ये भी पढ़ें :-  पीलीभीत : जागरूक अभियान के तहत सिटी मजिस्ट्रेट और SDM ने मतदाताओं को दिलाई शपथ

जिससे नाराज महिला ने खुद व बेटियों पर मिट्टी तेल उड़ेकर माचिस जलाने की कोशिश की। सुरक्षाकर्मियों ने महिला व उसकी बेटियों को पकड़ लिया। मौके पर पहुंची महिला पुलिसकर्मियों ने उसे पकड़ लिया और जमकर पिटाई की। गौतमपल्ली थाने के एसओ अरुण द्विवेदी ने बताया कि महिला की मुरादाबाद के डीएम से वार्ता कराने के बाद कार्रवाई का आश्वासन देकर वापस भेज दिया गया।

बबिता ने जब जमीन कब्जे की शिकायत थाने पर की तो ग्राम प्रधान व उसके दोस्तों ने घर में घुसकर कई बार पीटा। पुलिसकर्मियों से साठगांठ करके थाने पर भी पिटवाया। वह जिले के आला अधिकारियों से गुहार लगा कर थक गई मगर कोई सुनवाई नहीं हुई। इससे दंग आकर वह सीएम आवास पहुंची लेकिन वहा भी उसको बस आश्वासन देकर लौटा दिया।

ये भी पढ़ें :-  अखिलेश के कदम से जनता में संदेश गया कि सपा मुस्लिम विरोधी है

अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>
error: 24hindinews.com\'s content is copyright protected
error: 24hindinews.com\'s content is copyright protected