गिरजाघरों को राजनीति में शामिल नहीं होना चाहिए: वेंकैया नायडू

Apr 14, 2017
गिरजाघरों को राजनीति में शामिल नहीं होना चाहिए: वेंकैया नायडू

केंद्रीय मंत्री एम. वेंकैया नायडू ने गुरुवार को कहा कि केरल के गिरजाघरों को राजनीति में शामिल नहीं होना चाहिए। नायडू केरल के दौरे पर हैं। उन्होंने संवाददाताओं से बातचीत के दौरान यह बात कही।

यह पूछे जाने पर कि क्या केरल में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के विकास में चर्च बाधा बन रहे हैं, इस पर नायडू ने कहा, “चर्च को आध्यात्मिक मुद्दों पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए और राजनीति में शामिल नहीं होना चाहिए।”

वेंकैया ने कहा कि अल्पसंख्यक समुदायों का कोई तुष्टीकरण नहीं होगा, लेकिन भाजपा में सभी का स्वागत है।

केरल की 140 सदस्यीय विधानसभा में भाजपा से एक सदस्य है। भाजपा को अभी केरल से राज्यसभा और लोकसभा में अपना खाता खोलना है।

नायडू ने कहा, “मैं यहां अपने पार्टी कार्यक्रम ‘120 लोकसभा’ के तहत आया हूं। इसमें हम उन निर्वाचन क्षेत्रों में जा रहे हैं जहां पार्टी 2014 लोकसभा चुनावों में दूसरे स्थान पर रही थी। मैं पार्टी नेताओं के साथ बैठक करूंगा।”

कांग्रेस पर निशाना साधते हुए नायडू ने कहा कि कोई भी बुद्धिमान व्यक्ति कांग्रेस में नहीं रह सकता, क्योंकि यह एक ‘डूबता जहाज’ है।

नायडू ने कहा, “हालांकि, हम केरल में कांग्रेस नेताओं को भाजपा में शामिल करने का कोई प्रयास नहीं कर रहे हैं, लेकिन कई पार्टियों से बहुत सारे लोग हमसे संपर्क कर रहे हैं।”

बीते एक सप्ताह में कई मीडिया रिपोर्ट में यह खबर आई है कि कई वरिष्ठ कांग्रेस नेता भाजपा की केरल इकाई में शामिल हो रहे हैं।

कांग्रेस नेताओं द्वारा बुधवार को राष्ट्रपति से मुलाकात पर नायडू ने कहा, “अब उन्हें इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों से दिक्कत है और यह उत्तर प्रदेश जैसे राज्य में बुरी तरह से पराजित होने पर हुआ है। हालांकि वे पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह और अपने वरिष्ठ नेता एम.वीरप्पा मोइली को समझाने में भी सक्षम नहीं है।”

अमरिंदर और मोइली ने ईवीएम पर सवाल उठाने को गलत बताया है।

नायडू ने कहा, “जब वे चुनाव जीतते हैं तो ईवीएम अच्छी है और जब हारते हैं तो उसमें समस्या है। हम ईवीएम नहीं लाए। पहली बार 1989 में ईवीएम का इस्तेमाल किया गया। कांग्रेस ने 2004 और 2009 में चुनाव जीता। कांग्रेस के पास मुद्दे नहीं है और इस वजह से गैर-मुद्दों को उठा रही है। यह एक बेतुका और निराधार आरोप है जो वे लगा रहे हैं।”

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

Jan 19, 2018

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>