शिवराज के मध्य प्रदेश में पुलिस वाले गाय चराने को हैं मजबूर, जानते हैं क्यों

Oct 31, 2016
शिवराज के मध्य प्रदेश में पुलिस वाले गाय चराने को हैं मजबूर, जानते हैं क्यों
लॉ एंड आर्डर मेंटेन करने की जिन पुलिस जवानों के कंधे पर जिम्मेदारी हैं, वे इन दिनों खेत-खलिहान में गाय चराने को मजबूर हैं। यह हाल है शिवराज सिंह चौहान के मध्य प्रदेश के नरसिंहपुर जिले की पुलिस का। यहां की गोटेगांव के जवान अब गायें चरा रहे हैं।
क्या है मामला
पुलिस को सूचना मिली थी कटने के लिए 1200 गौवंश ले जाए जा रहे हैं। जिस पर पुलिस ने छापेमारी कर आधे दर्जन तस्करों के कब्जे से गोवंश छुड़ाए। पहले तो पुलिस ने उन्हें गौशाला में रखने की सोची मगर पता चला कि कहीं कोई गौशाला खाली नहीं है।  गौवंश को जिंदा रखने के लिए  चारे की  व्यवस्था करनी जरूरी थी। जबकि 1100  पशुओं के लिए चारा खरीदना बहुत महंगा पड़ता। इस पर आखिरकार अफसरों ने  जवानों की ड्यूटी लगाकर पशुओं को चराने की व्यवस्था की।
सुबह दस बजे पशुओं को ले जाते हैं जंगल
पशुओं को चराने की ड्यूटी सुबह दस बजे शुरू हो जाती है। जवान 1100 गौवंशों को आसपास के जंगलों में हांकते हुए ले जाते हैं। शाम पांच बजे चराकर ही लौटते हैं। सुबह जंगल ले जाते समय जानवरों की गिनती होती है फिर चराकर वापस लौटते समय फिर गिनती होती है।
अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे
ये भी पढ़ें :-  भाजपा में उपेक्षित हुए स्वामी प्रसाद मौर्य, कांग्रेस में जाने के जुगाड़ में लगे
लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>
error: 24hindinews.com\'s content is copyright protected
error: 24hindinews.com\'s content is copyright protected