चंडीगढ़ रेप: अलका ने कहा, निकम्मी सरकार से उम्मीद बिकुल न रखें, महिलाएं हथियार चलाना सीखें

Aug 16, 2017
चंडीगढ़ रेप: अलका ने कहा, निकम्मी सरकार से उम्मीद बिकुल न रखें, महिलाएं हथियार चलाना सीखें

स्वतंत्रता दिवस के दिन छात्रा से हुए रेप पर भड़की आम आदमी पार्टी की नेता अलका लांबा। उन्होंने जो कहा उसको सब सुनते ही रह गए। उन्होंने कहा कि ऐसी वारदातों को अंजाम देने वालों का लिंग काटकर उन्हें जेल में सड़ा देना चाहिए। अपने फेसबुक अकाउंट पर पोस्ट करते हुए उन्होंने कहा कि, आज आज़ादी मनाने स्कूल गई हमारी बेटी को हवस का शिकार बनाया गया। आखिर बेटी कैसे बचायें? इस घटना पर अलका ने फास्ट ट्रैक कोर्ट की मांग करते हुए कहा कि 6 महीनों में सुनवाई पूरी हो, जुर्म साबित होते ही हैवान का लिंग काट कर हमेशा के लिये जेल में सड़ने के लिए छोड़ देना चाहिए।

ये भी पढ़ें :-  पांचवी के छात्र ने की ख़ुदकुशी- सुसाइट नोट में लिखा- "मैम इतनी बड़ी सज़ा किसी को न दें"

और देश की सभी बच्चियों के पिता से अपील करते हुए कहा कि हर पिता को अपनी बेटी को तेज़ धारदार हथियार देने और चलाने सिखाने चाहिए, बचाव में क़त्ल भी हो जाता है तो क़ानून के मुताबिक वह क़त्ल नहीं माना जायेगा, सुरक्षित और जिन्दा रहने के लिए अब यह सब करना जरुरी है।

लेकिन जब अलका लांबा से पूछा गया कि आप हथियार रखने की सलाह क्यों दे रही हैं, जबकि यह ग़ैरकानूनी है, तो अलका ने कहा, महिलाओं के साथ हिंसक वारदातों पर लगाम कसने में सरकार नाकाम है, कानून नाकाफी है, व्यवस्था निकम्मी और नपुंसक हो चुकी है। ऐसे में बच्चियों को अपनी हिफाज़त खुद ही करनी होगी। आप विधायक ने अपना पक्ष रखते हुए कहा कि अगर बड़े-बड़े अपराधी पिस्टल का लाइसेंस रख सकते हैं तो एक बेटी को लाइसेंस देकर हथियार रखने की इजाजत क्यों नहीं दी जा सकती।

ये भी पढ़ें :-  क्या बुलेट ट्रेन के कर्ज का ब्याज चुकाने के लिए बढ़ी है पेट्रोल-डीजल की कीमत?: शिवसेना
लाइक करें:-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>