केंद्र सरकार को पत्थरबाजी में शामिल युवाओं तक पहुंचना चाहिए: मुस्लिम छात्र समूह

May 09, 2017
केंद्र सरकार को पत्थरबाजी में शामिल युवाओं तक पहुंचना चाहिए: मुस्लिम छात्र समूह

जमात-ए-इस्लामी हिंद की छात्र शाखा के अध्यक्ष ने सोमवार को कहा कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार को जम्मू एवं कश्मीर में पत्थरबाजी में शामिल युवाओं तक पहुंचना चाहिए और और उनकी ऊर्जा का सकारात्मक कार्यो में इस्तेमाल करने के लिए कदम उठाने चाहिए। संवाददाता सम्मेलन में स्टूडेंट्स इस्लामिक ऑर्गनाइजेशन ऑफ इंडिया के अध्यक्ष न्हास माला ने यह भी कहा कि हैदराबाद केंद्रीय विश्वविद्यालय के शोध छात्र रोहित वेमुला की रहस्यमय परिस्थितियों में मौत के बाद शिक्षण संस्थानों में दलितों तथा मुसलमानों पर अत्याचारों के खिलाफ भी आवाज उठी है।

यह पूछे जाने पर कि कश्मीर में पत्थरबाजी की घटनाओं में शामिल युवाओं की ऊर्जा का इस्तेमाल करने के लिए क्या कदम उठाए जाने चाहिए, उन्होंने कहा, “वास्तव में, यह केंद्र सरकार का काम है, क्योंकि कश्मीर में उनकी तथा पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) की गठबंधन सरकार है और इसके लिए कदम उठाना उनका काम है।”

माला ने यह भी कहा कि देश में मुस्लिम तथा दलित छात्रों की हालत दयनीय हो गई है और जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) के छात्र नजीब अहमद की रहस्यमय गुमशुदगी तथा वेमुला की रहस्यम मौत से दोनों समुदायों के छात्रों के बीच रोष है।

उन्होंने कहा, “रोहित का मामला कोई नया नहीं है। हैदराबाद केंद्रीय विश्वविद्यालय का वह 11वां पीड़ित था। उसकी ‘सांस्थानिक हत्या’ के बाद मामला प्रकाश में आया, जिसके बाद इसने एक आंदोलन का रूप लिया।”

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>