धनराशि के चक्कर में पांच सांसद फंसे

Apr 15, 2016

लोकसभा की आचार समिति ने तृणमूल कांग्रेस के उन पांच सांसदों से स्पष्टीकरण मांगा है जो कथित तौर पर पिछले माह एक स्टिंग आपरेशन में नकदी स्वीकार करते हुए पकड़े गए थे.

एक सूत्र ने बताया कि भाजपा सांसद लालकृष्ण आडवाणी की अध्यक्षता वाली समिति ने तृणमूल सांसदों से मामले में अपनी स्थिति समझाने के लिए कहा है.

समिति ने इससे पहले स्टिंग का वीडियो टेप जारी करने वाले समाचार पोर्टल नारद न्यूज से क्लिप के स्रेत के बारे में पूछा था.

समिति ने पोर्टल से यह भी पूछा था कि क्या वह अभी भी स्टिंग पर कायम है. गत माह जारी कथित स्टिंग में तृणमूल कांग्रेस के पांच लोकसभा सांसदों सौगत राय, सुल्तान अहमद, सुवेंदु अधिकारी, काकोली घोष दस्तिदार और प्रसून बनर्जी तथा राज्यसभा सदस्य मुकुल राय को कथित तौर पर एक फर्जी कंपनी के प्रतिनिधियों से धनराशि स्वीकार करते हुए दिखाया गया था.

 

तृणमूल कांग्रस सांसद सुल्तान अहमद ने बृहस्पतिवार को कहा, ‘मैंने नोटिस के बारे में सुना है. मैं चुनाव के लिए प्रचार अभियान पर हूं और मुझे अभी तक नोटिस नहीं मिला है. जब मुझे मिलेगा मैं देखूंगा.’

यह मामला एक नया राजनीतिक विवाद शुरू कर सकता है क्योंकि यह तब प्रकाश में आया है जब पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव चल रहा है और अन्य दलों ने वहां सत्ताधारी तृणमूल कांग्रेस के खिलाफ चौतरफा हमला बोला है.

जब भाजपा, कांग्रेस और वाम दल संसद और संसद के बाहर तृणमूल कांग्रेस पर इस मामले को लेकर हमला बोल रहे थे, ममता बनर्जी की पार्टी ने कहा कि ये आरोप पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव से पहले राजनीतिक षड्यंत्र का हिस्सा है.

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>