मीडिया रिपोर्टिंग से नहीं हो पा रहा, मशहूर परफ्यूमर मोनिका मर्डर का खुलासा

Oct 09, 2016
मीडिया रिपोर्टिंग से नहीं हो पा रहा, मशहूर परफ्यूमर मोनिका मर्डर का खुलासा
नई दिल्लीः   देश की सबसे मशहूर परफ्यूमर यानी लेडी ऑफ स्मेल मोनिका घुरडे की सनसनीखेज हत्या के खुलासे में टीआरपी के भूखे पत्रकारों ने रोड़ा पैदा कर दिया। पुलिस को मिले अहम सुरागों के मीडिया रिपोर्ट में लीक होने से हत्यारे पकड़ से दूर जा चुके हैं। जि पर पुलिस के बड़े अफसरों ने इस हाईप्रोफाइल मर्डर मिस्ट्री को लेकर मीडिया रिपोर्टिंग को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए गुस्सा भी जताया है। अफसरों का कहना है कि  लीड बनाने के चक्कर में टीवी चैनल और अखबारों की रिपोर्टिंग से हत्यारे अलर्ट हो गए हैं, नहीं तो हम उन्हें आसानी से दबोच सकते थे।
क्या है देश की पहली लेडी परफ्यूमर की मर्डर मिस्ट्री
लेडी ऑफ स्मेल के नाम से मशहूर मोनिका घुरडे जानी-मानी फोटोग्राफर रह चुकी हैं। देश ही नहीं विदेशी मीडिया भी कई दफा उनके इंटरव्यू प्रकाशित कर चुकी है। पिछले एक साल से मोनिका पति से अनबन के बाद गोवा में किराए के फ्लैट में रह रहीं थीं। बीते गुरुवार को अचानक मर्डर हो गया। उनका शव बेड से बंधा हुआ मिला। खास बात है कि मरने से पहले मोनिका ने एक तस्वीर खींची थी। जिसमें एक महिला न्यूड होकर बिस्तर पर लेटी हुई है। हत्यारे ने ठीक उसी अंदाज में मोनिका की हत्या कर शव को रखा।
पुलिस मान रही परिचित है हत्यारा
जिस तरह से कमरे में खाने के जूठन लगे दो प्लेट पड़े रहे। न ही मौके पर कहीं किसी तरह की तोड़-फोड़ दिखी। यानी खिड़की आदि से सेंधमारी कर घुसने की कोई बात नहीं दिखी। जिससे पता चलता है कि हत्यारा उनका परिचित रहा होगा। जिससे वह फ्रेंडली तरीके से घुसा। मोनिका के साथ कुछ समय बिताया। फिर मौका पाकर हत्या कर दी।
मीडिया  रिपोर्टिंग केस के खुलासे में कैसे बनी खलनायक
दरअसल घटनास्थल की जब पुलिस ने जांच की तो कहीं से भी नहीं लगा कि लूट के इरादे से हत्या हुई। कारण कि फ्लैट का सारा सामान सुरक्षित रहा। कोई आलमारी भी नहीं टूटी। जांच में पता चला कि मोनिका की पर्स से एटीएम गायब रहा। इस एटीएम कार्ड से निकासी के बारे में पुलिस ने चेकिंग की तो बता चला कि हत्यारे ने गोवा के एक खास इलाके की खास बैंक शाखा से निकासी की। फिर दूसरी बार बेंगलुरु से ट्रांजेक्शन होने की बात सामने आई। मगर पुलिस में से ही किसी ने यह बात लीक कर दी। जिससे खबरों में आ गया कि पुलिस एटीएम कार्ड के जरिए खुलासा करने वाली है। बस फिर क्या था कि हत्यारा सतर्क हो गया।
एटीएम का इस्तेमाल करना बंद कर दिया।
मीडिया पुलिस बन जाएगी तो कैसे होगा खुलासा
गोवा पुलिस के एक बड़े अफसर ने   कहा कि मीडिया का काम किसी आपराधिक मामले की उतनी ही रिपोर्टिंग करना है, जिससे कि केस की जांच पर कोई फर्क न पड़े। मगर इस हाईप्रोफाइल मामले में मीडिया पुलिस के हर अगले कदम की जानकारी लीक कर दे रही। जिससे हत्यारे सतर्क हो जा रहे हैं। अगर मीडिया पुलिस का काम करेगी तो केस कैसे साल्व होगा। मीडिया को इसलिए कुछ जानकारी दी जाती है कि उसे महसूस हो कि हम खाली हाथ नहीं बैठे हैं। कुछ कर रहे हैं। मगर मीडिया भरोसे में प्रदान की गई सूचनाओं को लीककर अपराधियों को फायदा पहुंचाने का काम कर रही है। हालांकि एक बड़े पत्रकार ने उल्टे पुलिस की कार्यप्रणाली पर ही निशाना साधा। कहा कि पत्रकारों को नसीहत देने के बजाए गोवा पुलिस अपने उस भेदिए पर कार्रवाई करे जो केस से जुडे़ हर सुबूत और पुलिस के अगले कदम की जानकारी लीक कर दे रहा।
दुष्कर्म के बाद गला घोंटकर हत्या की आशंका
दरअसल बेड पर मोनिका का शव बंधा पाया गया। दोनों हाथ बंधे हुए थे। शरीर से कपड़े भी गायब रहे। बगल के एक तकिया बरामद हुई। शव को देखने के बाद पुलिस को आशंका है कि हत्यारे ने दुष्कर्म करने के बाद मौका पाते ही तकिए से गला घोंटकर हत्या कर दी। हालांकि हत्या के क्या कारण हैं, अभी पता नहीं चल सका है।
अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे
लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>