कलकत्ता हाई कोर्ट ने नारदा मामले में दिए सीबीआई जांच के आदेश, आदेश के खिलाफ ममता जायेंगी सुप्रीम कोर्ट

Mar 17, 2017
कलकत्ता हाई कोर्ट ने नारदा मामले में दिए सीबीआई जांच के आदेश, आदेश के खिलाफ ममता जायेंगी सुप्रीम कोर्ट

कलकत्ता उच्च न्यायालय ने शुक्रवार को केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) को नारदा स्टिंग ऑपरेशन की प्राथमिक जांच करने का आदेश दिया। नारदा स्टिंग में सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस के प्रमुख नेता जाहिर तौर पर नोटों के बंडल लेते कैमरे में कैद कर लिए गए थे।

कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति निशिता म्हात्रे और न्यायमूर्ति टी. चक्रवर्ती की सदस्यता वाली पीठ ने सीबीआई को 72 घंटे के भीतर अपनी प्राथमिक जांच पूरी करने का निर्देश दिया है।

अदालत ने सीबीआई को मामले में प्राथमिकी दर्ज करने की जरूरत महसूस होने पर ऐसा करने का भी निर्देश दिया है।

पीठ ने स्टिंग ऑपरेशन के लिए इस्तेमाल किए गए सभी उपकरण 24 घंटे के भीतर अपने कब्जे में करने को कहा, जो फिलहाल अदालत के कब्जे में हैं।

ये भी पढ़ें :-  भूत-प्रेत उतारने के बहाने तांत्रिक ने महिला से किया बलत्कार, पीड़िता ने सीएम से लगाई न्याय की गुहार

अदालत ने मामले की स्वतंत्र जांच संबंधी तीन जनहित याचिकाएं सुनने के बाद यह फैसला दिया।

नारदा स्टिंग मामला मार्च 2016 में सामने आया था।

वेब पोर्टल नारदा न्यूज ने कई वीडियो फूटेज अपलोड किए थे, जिनमें कथित रूप से तृणमूल कांग्रेस के कई कद्दावर नेता किसी फर्जी कंपनी को लाभ पहुंचाने के बदले पैसे लेते दिखाई दे रहे थे।

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने शुक्रवार को नारदा स्टिंग ऑपरेशन मामले में सीबीआई जांच के कलकत्ता उच्च न्यायालय के आदेश को ‘दुर्भाग्यपूर्ण’ करार दिया है। उन्होंने साथ ही कहा कि उनकी सरकार और तृणमूल कांग्रेस इस फैसले के खिलाफ सर्वोच्च न्यायालय में गुहार लगाएगी।

ये भी पढ़ें :-  चलती ट्रेन में अश्लील हरकत करने लगे बदमाश, रेप से बचने के लिए मां-बेटी ने लगा दी छलांग

तृणमूल अध्यक्ष ने कहा, “मेरी सरकार और पार्टी न्याय के लिए शीर्ष अदालत जाएगी।”

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>