ब्रेक्सिट से टाटा को एक दिन में हुआ 30 हजार करोड़ रूपये का नुकसान

Jun 26, 2016
भारतीय समूह ने साल 1907 में ब्रिटेन में कारोबार की शुरूआत की थी और साल 2000 तक टाटा ने ब्रिटेन में स्टील, ऑटोमोबाइल, होटल जैसे कई कारोबार में अपनी मजबूत पकड़ बना ली।

मुंबई। ब्रिटेन के यूरोपीय यूनियन से बाहर निकलने के बाद ब्रिटेन में सबसे ज्यादा निवेशक और कर्मचारी रखने वाली भारतीय कंपनी टाटा को अब दोबारा से व्यापार की नई योजनाओं पर काम करना होगा। यही वजह रही कि कि शुक्रवार को जब ब्रिटेन ने यूरोपीय यूनियन से अलग होने का फैसला किया तो टाटा ग्रुप के शेयर जिसमें टाटा मोटर्स, टाटा स्टील और टीसीएस के शेयर 8 प्रतिशत, 6 प्रतिशत और 3 फीसदी की दर से गिरे जिससे कंपनी को एक ही दिन में 30 हजार करोड़ रूपये का नुकसान हुआ।

टाटा की 19 कंपनियां इस समय ब्रिटेन में हैं जिनमें करीब 60 हजार कर्मचारी काम करते हैं। टाटा ग्रुप की जगुआर लैंड रोवर को ही अगले चार सालों में यूरोपीय देशों में 1.47 बिलियन डॉलर का कारोबार करना था। टाटा स्टील को भी सरकार के बदलने से काफी नुकसान होगा। हालांकि डेविड कैमरून सराकर ने बेलिगुरिड यूनिट के 25 फीसदी स्टेक को खरीदने के लिए हामी भर दी है साथ ही कंपनी को कई मिलियन पाउंड की सहायता देने का भी प्रस्ताव दिया है।

आपको बता दें कि भारतीय समूह ने साल 1907 में ब्रिटेन में कारोबार की शुरूआत की थी और साल 2000 तक टाटा ने ब्रिटेन में स्टील, ऑटोमोबाइल, होटल जैसे कई कारोबार में अपनी मजबूत पकड़ बना ली। इस वक्त टाटा ग्रुप 109 बिलियन डॉलर का है।

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>