जगुआर लैंडरोवर ने चीन की कंपनी को कोर्ट में घसीटा

Jun 06, 2016
मामले से जुड़े सूत्रों के मुताबिक, चीन की कंपनी पर जेएलआर की इवोक की नकल का आरोप है।

बीजिंग, रायटर। टाटा मोटर्स के स्वामित्व वाली जगुआर लैंड रोवर (जेएलआर) ने कॉपीराइट के मामले में चीन की ऑटो निर्माता जियांगलिंग मोटर को कोर्ट में घसीटा है। मामले से जुड़े सूत्रों के मुताबिक, चीन की कंपनी पर जेएलआर की इवोक की नकल का आरोप है। चीन दुनिया में सबसे बड़ा ऑटोमोबाइल मार्केट है। जेएलआर के इस कदम को अनूठा बताया जा रहा है। कॉपीराइट की लड़ाई में विदेशी कंपनियां नकली उत्पाद बनाने के लिए कुख्यात चीन में कोर्ट का विरले ही रुख करती हैं।

जेएलआर के प्रवक्ता ने पुष्टि की कि बीजिंग के पूर्वी चाओयांग जिले में कॉपीराइट और अनुचित प्रतिस्पर्धा के संबंध में मुकदमा दर्ज कराया गया है। यह जियांगलिंग की लैंडविंड एक्स7 के इवोक की डिजाइन की नकल करने से जुड़ा है। इसके आगे कोई भी जानकारी देने से उन्होंने मना कर दिया।

ये भी पढ़ें :-  व्यापारियों के लिए whatsapp ला रहा है एक नया फीचर

इवोक जेएलआर का पहला चीन निर्मित मॉडल है, जिसकी बीते साल बिक्री शुरू हुई। चीन व्यापक स्तर पर जोरदार नकल के लिए दुनियाभर में कुख्यात है। बावजूद इसके चीन में ग्लोबल ऑटो निर्माता यहां की कंपनियों के खिलाफ अक्सर कानूनी रास्ता अख्तियार नहीं करते हैं। घरेलू कंपनियों के खिलाफ उन्हें जीत हासिल होने की कम ही उम्मीद रहती है। दूसरा कारण यह है कि ब्रांडिंग के लिए भी यह सही नहीं रहता है क्योंकि चीन की जनता महसूस कर सकती है कि विदेशी कंपनी घरेलू प्रतिस्पर्धियों पर धौंस जमा रही है।

झोंग लुन लॉ फर्म में वकील चेन जिहोंग ने कहा कि अगर जेएलआर मामले में जीत हासिल करती है तो यह दूसरी कंपनियों को भी कानूनी रास्ता अपनाने के लिए प्रेरित करेगा। इससे बौद्धिक संपदा अधिकारों (आइपीआर) को मजबूती से लागू करने की दिशा में आगे बढ़ने में मदद मिलेगी।

ये भी पढ़ें :-  Jio Sim की छुट्टी करने के लिए बाजार मे आया Chat Sim- सब कुछ दे रहा है फ्री

बहुत अधिक समानता

लैंडविंड ने नवंबर 2014 में एक्स7 एसयूवी का नया वर्जन उतारा था। इवोक से काफी ज्यादा समानता के कारण इसकी आलोचना हुई थी। चीन में इवोक का आयातित वर्जन पहले से ही बिक रहा था। दोनों एसयूवी आकार में एक जैसी हैं। अन्य फीचरों में भी काफी समानता है।

कीमत में भी कम

एक्स7 की कीमत इवोक के मुकाबले करीब एक-तिहाई है। हालांकि, टेक्नोलॉजी और प्रदर्शन के मामले में यह कुछ कमतर है। जेएलआर के प्रवक्ता ने बताया कि ब्राजील में एक आदेश के मार्फत जियांगलिंग को एक्स7 की बिक्री करने से रोका गया है। सूत्रों की मानें तो दोनों ऑटो निर्माता इस बात की भी चर्चा कर रहे हैं कि किसी भी एक्स7 डिजाइन अपडेट में लैंडविंड क्या कर सकती है और क्या नहीं।

ये भी पढ़ें :-  Jio यूज़र्स हो जाए सावधान- 31 मार्च के बाद सभी ग्राहकों को देना होगा इतना पैसा

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>
error: 24hindinews.com\'s content is copyright protected
error: 24hindinews.com\'s content is copyright protected